ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड जमशेदपुरजमाई षष्ठी पर हुई दामाद की खूब खातिरदारी

जमाई षष्ठी पर हुई दामाद की खूब खातिरदारी

बांग्ला समाज के लोगों ने बुधवार को दामाद की जमकर खातिरदारी की गई। जमाई षष्ठी पर सास ने अपने दामाद और बेटी की सुख समृद्धि के लिए व्रत...

जमाई षष्ठी पर हुई दामाद की खूब खातिरदारी
हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरThu, 13 Jun 2024 06:00 PM
ऐप पर पढ़ें

बांग्ला समाज के लोगों ने बुधवार को दामाद की जमकर खातिरदारी की गई। जमाई षष्ठी पर सास ने अपने दामाद और बेटी की सुख समृद्धि के लिए व्रत रखा। नए वस्त्र में सज धजकर मिठाई, वस्त्र व उपहार सामग्री लेकर दामाद परिवार समेत अपने ससुराल पहुंचे। जमाई षष्ठी की पूर्व संध्या पर मंगलवार को बाजारों में काफी भीड़ रही। हिलसा मछली आम कटहल लीची सहित मौसमी फलों की खूब बिक्री हुई। वहीं जमाई षष्ठी पर सास व अन्य परिजनों ने दामाद का स्वागत करते हुए उनके माथे पर तिलक लगाया व आरती उतारी। जमाई षष्ठी के एक दिन पूर्व सास जमाई को ससुराल आने का आमंत्रण देती है। आमंत्रण पर जमाई बुधवार की सुबह अपने ससुराल पहुंचे। परंपरा के मुताबिक, आरती उतारी माथे पर दूब घास स्पर्श कराया। मौसमी फल और मिठाई खिलाया। आसन पर बैठाकर पंखा झेला। दामाद के स्वागत में कई प्रकार के व्यंजन पकाए गए। परंपरा के अनुसार दामाद को अनिवा अगला रूप से हिल्सा मछली खिलाई जाती है। जमाई षष्ठी दामाद और सास के लिए खास पर्व है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।