अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सॉफ्टवेयर में दर्ज होंगे क्षेत्रवार मरीजों के विवरण, एक क्लिक पर मिलेगा ब्योरा- किस बीमारी के कितने मरीज

स्वास्थ्य विभाग को अब मरीजों के बारे में जानकारी जुटाने के लिए मगजमारी नहीं करनी पड़ेगी। एक क्लिक पर हर बीमारी के मरीजों का पूरा आंकड़ा अधिकारियों के सामने होगा। खास यह होगा कि यह आंकड़ा क्षेत्रवार होगा जिससे किसी बीमारी के सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्रों तक विभाग की पहुंच जल्दी हो सके। इसके लिए विभाग नया सॉफ्टवेयर लगाएगा। एमसीआई के मानकों के अनुरूप बने इस सॉफ्टवेयर को सीडी-10 का नाम दिया गया है। हर सरकारी अस्पतालों में मरीजों का पंजीयन इसी सॉफ्टवेयर से किया जाएगा। 


सारी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी : मरीजों के पंजीयन की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। सीडी-10 सॉफ्टवेयर में मरीजों के पंजीयन के साथ ही पूरा आंकड़ा दर्ज हो जाएगा। इससे उसके इलाज में भी मदद मिलेगी। सॉफ्टवेयर के सहारे उसके विवरण को हर बार खंगालना आसान होगा।


अब छह गुना कम समय में बनेगा पर्चा : अबतक एमजीएम अस्पताल में रजिस्ट्रेशन के लिए न्यूरो सॉफ्टवेयर इस्तेमाल किया जा रहा है, पर इसकी गति बहुत धीमी है  और बार-बार अटक जाता है।  पिछले कई दिनों से बंद भी पड़ा है। इस सॉफ्टवेयर से पर्चे बनाने में औसतन ढाई मिनट लगते हैं। सीडी-10 सॉफ्टवेयर में 30-40 सेकेंड यानी करीब छह गुना कम समय में मरीजों का पर्चा बनेगा। जिससे मरीजों की लंबी लाइन नहीं लगेगी। पिछले दिनों यहां निरीक्षण के दौरान एमसीआई टीम ने  न्यूरो सॉफ्टवेयर की धीमी गति पर आपत्ति जताई थी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The details of the area-wise patients will be recorded in the software