DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  जमशेदपुर  ›  दूसरी बार भी नहीं मिला जब्त अनाज का खरीदार

जमशेदपुरदूसरी बार भी नहीं मिला जब्त अनाज का खरीदार

हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:50 AM
दूसरी बार भी नहीं मिला जब्त अनाज का खरीदार

जमशेदपुर। मुख्य संवाददाता

1361 क्विंटल जन वितरण प्रणाली के जब्त अनाज की नीलामी का जिला प्रशासन का दूसरा प्रयास भी विफल रहा। सोमवार को डीडीसी परमेश्वर भगत के कार्यालय कक्ष में होने वाली नीलामी, एक भी टेंडर नहीं पड़ने के कारण टल गई। अब जिला प्रशासन के लिए चिंता बढ़ गई है क्योंकि दो-दो बार कागजी प्रक्रिया पूरी करने के बाद इसका परिणाम नहीं निकला है। इस नीलामी प्रक्रिया के लिए गठित समिति के अध्यक्ष डीडीसी ने कहा है कि अब फिर से इस पर विचार किया जाएगा कि अनाज की नीलामी के लिए क्या रणनीति बनाई जाए। इससे पूर्व 30 अप्रैल को भी नीलामी की तिथि तय हुई थी। परंतु तब भी कोई टेंडर नहीं पड़ा था।

8 माह पूर्व जब्त अनाज हो रहा है खराब

अनाज को जब्त हुए 8 माह पूरे हो चुके हैं। इसके कारण आशंका है कि देर हुई तो अनाज सड़ जाएगा और फिर इसकी कीमत नहीं मिलेगी। 18 सितंबर 2020 को साकची और हावड़ा ब्रिज के पास स्थित मोहनानी बंधुओं के दो गोदामों में छापामार कर पीडीएस के इस अनाज को जब्त किया गया था। नीलामी से पूर्व अनाज की क्वालिटी की जांच कराई गई थी। जांच में पता चला कि जब्त अनाज में से 266 क्विंटल चावल की क्वालिटी तो ठीक है। परंतु बाकी 1095 क्विंटल अनाज मानक से कमतर है। इसलिए 266 क्विंटल बढ़िया चावल की दर तो 23 रुपए प्रति किलो तय हुई लेकिन बाकी 609 क्विंटल चावल की 14 रुपए, गेहूं 18 रुपए, चना 32 रुपए और चना दाल की कीमत मात्र 35 रुपए तय हुई है। गेहूं की मात्रा 478 क्विंटल जबकि चना और चना दाल की मात्रा मात्र चार-चार क्विंटल है।

संबंधित खबरें