DA Image
28 नवंबर, 2020|9:46|IST

अगली स्टोरी

स्टेक होल्डर के मसले पर टाटा स्टील को देना है जवाब

default image

जमशेदपुर को इंडस्ट्रीयल टाउनशिप (औद्योगिक शहर) बनाने की स्थिति में उसमें और कौन-कौन से हितधारक (स्टेक होल्डर) शामिल होंगे, इस मसले पर टाटा स्टील ने सरकार को जवाब नहीं सौंपा है। पिछली बार रांची में हुई बैठक में ही उससे इस मसले पर अपना पक्ष मांगा गया था, जो आज तक जमा नहीं हुआ है। औद्योगिक शहर का स्वरूप तय करने को लेकर यह एक महत्वपूर्ण पहलू है।

2 नवंबर को रांची में इस मसले पर नगर विकास सचिव विनय चौबे के द्वारा आहूत बैठक में यह मसला उठना तय माना जा रहा है। मसला तो इंडस्ट्रीयल टाउनशिप के स्वरूप को लेकर भी उठना है। माना जा रहा है कि यह बैठक इस दिशा में नई सरकार की नई शुरुआत होगी। अभी तक जितनी बैठकें हुईं हैं या जो कवायद हुए हैं, उसका कोई सकारात्मक नतीजा नहीं निकला है। यही वजह है कि इस बैठक में डीसी व एडीसी के अलावा टाटा स्टील के एमडी को भी बुलाया गया है। खास बात यह है कि इस बैठक में टाटा स्टील के एमडी को छोड़कर बाकी सभी सरकारी अधिकारी नये हैं। सचिव, डीसी, एडीसी सभी बदल चुके हैं। इसलिए सभी अधिकारी इस विषय को नये सिरे से समझने का प्रयास करेंगे।

जिला प्रशासन पूर्व में रख चुका है अपना पक्ष

जहां तक जिला प्रशासन की ओर से इसमें भागीदारी या पक्ष रखने का सवाल है, पूर्व उपायुक्त अमित कुमार इस विषय पर अपना मंतव्य और रिपोर्ट सौंप चुके हैं। इसलिए अब उपायुक्त की ओर से कोई रिपोर्ट नहीं सौंपी जानी है।

यही वजह है कि शनिवार को इस मसले पर पूर्व निधारित बैठक टल गई। उपायुक्त सूरज कुमार ने राजस्व शाखा से सिर्फ पूर्व की रिपोर्ट मंगवाई है। उसमें अभी तक हुई कवायद की पूरी कहानी दर्ज है। अब वे इसका अध्ययन कर रहे हैं ताकि जरूरत पड़ने पर रांची बैठक में जिला प्रशासन का पक्ष रख सकें।

1988 से चल रहा है मामला

1988 में शहर के मानवाधिकार कार्यकर्ता जवाहरलाल शर्मा ने जमशेदपुरवासियों को तीसरे मताधिकार दिये जाने के मसले पर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। अभी तक दो बार जमशेदपुर में नगर निकाय का चुनाव कराने का सरकार अधिसूचना जारी कर चुकी है। हालांकि दोनों बार टाटा स्टील ने इस पर अदालती रोक हासिल कर चुनाव रुकवा चुकी है। टाटा स्टील अपने वर्चस्व वाला इंडस्ट्रीय टाउनशिप की इच्छुक है, जिसके कारण जिच बनी हुई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Tata Steel has to answer on the issue of stake holder