DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनएच पर पत्थलगड़ी की खुफिया रिपोर्ट पर खलबली

एनएच पर पत्थलगड़ी की खुफिया रिपोर्ट पर खलबली

1 / 2विशेष शाखा ने एनएच-33 पर पत्थलगड़ी का अलर्ट जारी किया तो पूर्वी सिंहभूम से लेकर सरायकेला-खरसावां प्रशासन तक खलबली मच गई। इस बार पत्थलगड़ी की घोषणा किसी समुदाय विशेष ने नहीं, बल्कि कांग्रेस पार्टी ने की...

एनएच पर पत्थलगड़ी की खुफिया रिपोर्ट पर खलबली

2 / 2विशेष शाखा ने एनएच-33 पर पत्थलगड़ी का अलर्ट जारी किया तो पूर्वी सिंहभूम से लेकर सरायकेला-खरसावां प्रशासन तक खलबली मच गई। इस बार पत्थलगड़ी की घोषणा किसी समुदाय विशेष ने नहीं, बल्कि कांग्रेस पार्टी ने की...

PreviousNext

विशेष शाखा ने एनएच-33 पर पत्थलगड़ी का अलर्ट जारी किया तो पूर्वी सिंहभूम से लेकर सरायकेला-खरसावां प्रशासन तक खलबली मच गई। इस बार पत्थलगड़ी की घोषणा किसी समुदाय विशेष ने नहीं, बल्कि कांग्रेस पार्टी ने की थी और इसकी अगुवाई खुद प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार करने वाले थे। इस अलर्ट के बाद दोनों जिलों की पुलिस रेस हो गई। कांग्रेसी नेताओं से जानकारी पुख्ता करने को लेकर कवायद शुरू हो गई। एनएच के इलाके में पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई। फोर्स भी तैनात कर दिया गया। रिपोर्ट में बताया गया था कि चौका, पारडीह, डिमना चौक, घाटशिला और बहारागोड़ा में पत्थलगड़ी होगी। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अजय के अनुसार सुबह उन्हें भी पुलिस का फोन आया था। वे लोग पत्थलगड़ी नहीं, बल्कि एएनएच की जर्जर स्थिति के विरोध में बोर्ड लगाने वाले थे। डॉ. अजय ने कहा कि पत्थलगड़ी आदिवासियों की परंपरा है। उसके नाम का इस्तेमाल वे नहीं कर सकते हैं। प्रशासन ने इसे खुद ही नाम दिया है। कार्यक्रम घोषित नही था, एनएच की जर्जर स्थिति को देखते हुए कांग्रेस ने निर्णय लिया था। कांग्रेस 16 को एनएच-33 का नाम भाजपा हड्डीतोड़ रखेगी : तिलक पुरस्कार में संवाददाताओं से बातचीत में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि एनएच की जर्जर स्थिति के खिलाफ कांग्रेस 16 सितम्बर को एनएच-33 का नामकरण भाजपा हड्डीतोड़ एनएच-33 करेगी। नामकरण नामकुम, बुंडू, चौका, पारडीह, घाटशिला और बहरागोड़ा में होगा। इसमें कांग्रेस पार्टी हाईवे के इस नाम का बोर्ड लगाएगी। हर जगह कांग्रेस के बड़े नेता शामिल होंगे। कहा कि नौ बार इस एनएच से मुख्यमंत्री रघुवर दास आना-जाना कर लें तो वे इस नामकरण बोर्ड को हटा लेंगे। बंद का गलत आंकड़ा पेश किया पुलिस ने : डॉ. अजय कुमार ने कहा कि बंद के दौरान पुलिस ने गिरफ्तारी का गलत आंकड़ा पेश किया। गिरफ्तार लोगों को निजी मुचलके पर नहीं छोड़ा। पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं और लोग परेशान हैं। भारत भूटान को पेट्रोल और डीजल देता है, लेकिन भूटान में पेट्रोल सस्ता और भारत में महंगा है। आंगनबाड़ी सेविकाओं और सहियाओं का मुद्दा उठाते हुए डॉ. अजय ने मांग की कि सेविका को 15 हजार रुपये और सहायिका को 10 हजार रुपये मिलने चाहिए। आरोप लगाया कि भाजपा सरकार झारखंड में मुखिया का अस्तित्व खत्म करना चाहती है। इतना ही नहीं, गांव में आदिवासी विकास सभा के नाम पर भाजपा कार्यकर्ताओं को सरकार पोषित कर रही है। यह सरकारी खर्च का दुरुपयोग है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:StumbleUpon on Pathhaladi intelligence report on nh