DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज देश में रोल मॉडल बने : राज्यपाल

1 / 2

2 / 2

PreviousNext

जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज और यहां की छात्राएं उच्च शिक्षा के लिए आदर्श स्थापित करें। राज्य ही नहीं देशव्यापी स्तर वीमेंस कॉलेज रोल मॉडल बनकर उभरें। कुलाधिपति शनिवार को जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज के दूसरे ग्रेजुएशन डे समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रही थीं।

एक्सएलआरआई के प्रेक्षागृह में मुर्मू ने कहा कि विद्यार्थी जीवन में अनुशासन महत्वपूर्ण है, छात्राएं अनुशासन में रहें। शिक्षिकाओं का सम्मान करें, उनके लिए वे मां समान हैं। उन्होंने कहा कि डिग्री लेना ही महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि कर्म के क्षेत्र में उतरकर प्रेरणा स्त्रोत बनना जरूरी है। बालिका शिक्षा में मील का पत्थर है वीमेंस कॉलेज : राज्यपाल ने जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज को बालिका शिक्षा में मिल का पत्थर बताया । छात्राओं से नैतिकवान, चरित्रवान और निर्भीक बनने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि खुद के कॅरियर के साथ ही समाज और राष्ट्रहित में सोचें। देश आपको देख रहा है। उन्होंने कहा कि छात्राओं को पढ़ना जरूरी है, एक छात्रा पढ़ेगी तो दो परिवार पढ़ेगा।

अबला नहीं, सबला बने छात्राएं :

राज्यपाल ने छात्राओं को अबला नहीं सबला बनने की सीख दी। कॉलेजों में आत्मनिर्भर एवं स्वयं की रक्षा की हेतु कई तरह के कौशल विकास के कार्यक्रम में भाग लेने को कहा। उन्होंने कहा कि झारखंड की छात्राओं में काफी प्रतिभा है, प्रतिभा को पहचानने की आवश्यकता है। आज के बच्चियां कंप्यूटर युग की बच्चियां है। वे किसी पर निर्भर न रहें सकारात्मक सोच के साथ आगे आपको अपनी मंजिल मिलेगी।

900 छात्राओ को डिग्री :

राज्यपाल ने 98 छात्राओं को गोल्ड मेडल से सम्मानित किया। कार्यक्रम में 900 छात्राओं को उपाधि दी गई। समारोह में स्मारिका व स्वच्छता अभियान की सीडी का विमोचन किया गया।

बालिका शिक्षा पर विवि का जोर :

कुलपति कोल्हान विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. शुक्ला मोहंती ने कहा कि विश्वविद्यालय का बालिका शिक्षा पर जोर है। छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए जा रहे हैं। सभी छात्राओं को कौशल विकास से जोडऩे की बात कहीं गई है। प्लेसमेंट सेल को सक्रिय करते हुए छात्राओं को अधिक से अधिक भागीदारी निभाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने वीमेंस कॉलेज के उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

रिसर्च पर है विवि का फोकस :

प्रति कुलपति कोल्हान विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति डॉ. रणजीत कुमार सिंह ने कहा कि ग्रेजुएशन डे विद्यार्थियों के लिए महत्वपूर्ण पड़ाव है। विश्वविद्यालय और वीमेंस कॉलेज में कई छात्र-छात्राओं ने विवि को रिसर्च पर ध्यान देने का सुझाव दिया है। इस सुझाव पर विश्वविद्यालय पूर्ण रूप से कार्य कर रहा है। विश्वविद्यालय का पूरा फोकस रिसर्च पर है। इसके लिए ब्लू प्रिंट भी तैयार किया जा चुका है और इस अनुसार कार्य भी हो रहा है।

ऐतिहासिक रहा ग्रेजुएशन डे :

प्राचार्य वीमेंस कॉलेज की प्राचार्य डॉ. पूर्णिमा ने कहा कि एक्सएलआरआई के ऑडिटोरियम में दूसरा दीक्षांत समारोह ऐतिहासिक रहा। यह कॉलेज के इतिहास के सुनहरे पन्नों में दर्ज हो गया है। कॉलेज के कर्मियों, शिक्षकों व छात्राओं ने अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। कॉलेज की जिम्मेदारी और बढ़ गई है, यहां की छात्राएं देश-विदेश में कॉलेज का नाम रोशन कर रही है। यह यात्रा आगे भी जारी रहेगी। इसमौके पर कोल्हान विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. एसएन सिंह, परीक्षा नियंत्रक डॉ. पीके पाणि, वित्त पदाधिकारी सुधांशु कुमार, एसएसपी अनूप बिरथरे , डीडीसी विश्वनाथ महेश्वरी, एडीएम लॉ एंड ऑडर सुबोध कुमार सहित कोल्हान विश्वविद्यालय के सिंडिकेट, सीनेट सदस्य, विभिन्न कॉलेज के प्रिंसिपल मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Students of Women s College and Girls Become Role Model of Higher Education Draupadi Murmu