DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आदित्यपुर में आम तोड़ने में करंट लगने से छात्र की मौत

आदित्यपुर में आम तोड़ने में करंट लगने से छात्र की मौत

टुइलाडुंगरी रोड नंबर 15 गुरुद्वारा के पास रहने वाले 16 वर्षीय ऋतिक श्रीवास्तव की आदित्यपुर में करंट लगने से मौत हो गई। घटना की फूआ सरिता खरे के आदित्यपुर स्थित घर में शुक्रवार की शाम छह बजे हुई। घटना के बाद उसे इलाज के लिए एमजीएम अस्पताल में लाया गया, जहां जांच के क्रम में डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद परिवार के लोगों ने एंबुलेंस चालक पर आरोप लगाया कि अगर मेडिका अस्पताल लेकर जाता तो ऋतिक की जान बच सकती थी। हालांकि, परिवार के ऋतिक के शव को लेकर चले गए। शाम को गया था फूआ के घर : ऋतिक शुक्रवार की शाम आदित्यपुर रोड नंबर-7 स्थित अपनी फूआ सरिता खरे के घर पर घूमने के लिए गया हुआ था। वहां पर वह खेल रहा था। इस दौरान ही उसे याद आया कि छत पर आम पका होगा। इसके बाद वह फूफेरी बहन दीया और रिया के साथ छत पर चला गया। वहां आम तोड़ने के क्रम में उसका हाथ नंगे बिजली के तार पर चला गया व उसे करंट लग गया।एक बार उठकर बैठ गया था : घटना के समय रिया और दीया ने ऋतिक के हाथ पर चप्पल से मारकर उसे छुड़ाने का प्रयास किया। इस बीच बिजली का तार उसके हाथ से छूटा और वह जमीन पर गिर पड़ा। इस बीच दोनों बहनों को भी करंट का झटका लगा था। ऋतिक एक बार उठकर बैठ गया था, लेकिन कुछ बोल पाने की हालत में नहीं था। इकलौता चिराग था ऋतिक : ऋतिक के पिता संजय किरण श्रीवास्तव टुइलाडुंगरी स्थित आवास में दुकान चलाते हैं। ऋतिक उनका इकलौता बेटा था। ऋतिक ने बेल्डीह चर्च स्कूल से मैट्रिक की परीक्षा दी थी। उसे 97 प्रतिशत अंक मिले थे। निजी अस्पताल में नहीं ले जाते रोगी : जानकारी के बाद पुलिस ने एंबुलेंस भेजा। रास्ते में परिवार के लोग चाह रहे थे कि ऋतिक को मेडिका में भर्ती कराया जाए, एंबुलेंस चालक ने कहा कि वह निजी अस्पताल में मरीज नहीं ले जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Student dies due to a normal break in Adityapur