Shaheed Khudiram Bose Chowk was deserted on Jayanti - जयंती पर वीरान रह गया शहीद खुदीराम बोस चौक DA Image
13 दिसंबर, 2019|12:47|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जयंती पर वीरान रह गया शहीद खुदीराम बोस चौक

जयंती पर वीरान रह गया शहीद खुदीराम बोस चौक

देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले स्वतंत्रता सेनानी शहीद खुदीराम बोस की जयंती पर चांडिल गोलचक्कर स्थित खुदीराम बोस चौक वीरान रहा। प्रशासन द्वारा चौक पर धारा 144 लगायी जाने से कार्यक्रम आयोजित नहीं हो सका। चौक के नामकरण को लेकर कुड़मी सेना एवं शहीद खुदीराम बोस स्मारक समिति के बीच उत्पन्न विवाद को देखते हुए प्रशासन ने धारा 144 लगा दी है। चौक में जयंती पर कार्यक्रम नहीं होने पर समिति के सदस्यों में इस बात का मलाल है।शहीद खुदीराम बोस स्मारक समिति ने मनायी जयंती : चैनपुर में शहीद खुदीराम बोस स्मारक समिति द्वारा खुदीराम बोस की जयंती मनायी गयी। समिति ने शहीद खुदीराम बोस की तस्वीर पर माल्यार्पण कर उनको नमन किया। इस मौके पर समिति के अध्यक्ष मनोज वर्मा, हराधन महतो, सचिव आसुदेव महतो, भुजंग मछुआ, अनंत महतो, प्रभात महतो, विश्वेश्वर महतो, दुखनी मांझी, सुलोचना मार्डी, अनुराधा महतो, सुमित्रा महतो, नेपाल किस्कू, प्रभात कुमार महतो, विश्ववर महतो, सागुन मांझी आदि उपस्थित थे। याद किये गये देशरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद व खुदीराम बोस : गम्हरिया में देेश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद तथा खुदीराम बोस की जयंती पर कांग्रेस ने श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर कार्यकर्ताओं ने उनकी तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए वरीय उपाध्यक्ष फूलकांत झा ने उनकी जीवनी पर प्रकाश डालते हुए उन्हें सादगी, विद्वता एवं कर्तव्यनिष्ठता की प्रतिमूर्ति बताया। इस मौके पर रमेश पंडीत, विकास सिंह, अजीत शर्मा, दिलीप ठाकुर, शंकर शर्मा, लखी कुमारी, असीम मुखर्जी, बद्री प्रसाद, रंजीत पासवान, निखिल सरकार, अशोक गुप्ता, शंभू महतो, शिवचरण प्रमाणिक, जीतेंद्र दास समेत कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shaheed Khudiram Bose Chowk was deserted on Jayanti