DA Image
20 जनवरी, 2021|5:21|IST

अगली स्टोरी

सहारा सिटी प्रकरण : नाबालिग से दुष्कर्म में सीआईडी ने चार से की पूछताछ

सहारा सिटी प्रकरण : नाबालिग से दुष्कर्म में सीआईडी ने चार से की पूछताछ

मानगो के सहारा सिटी में नाबालिग से दुष्कर्म मामले में बुधवार को सीआईडी की टीम ने चार लोगों से पूछताछ की है। इनका नाम लड्डन (मानगो), अमित कुमार (टेल्को), मनोज सहाय (गोविंदपुर) और अजीज मिस्त्री (मानगो सहारा सिटी) है। सीआईडी के नॉर्दन टाउन स्थित कार्यालय में बुलाकर इनसे एक घंटे तक की गई पूछताछ में पीड़िता द्वारा जो आरोप लगाया गया है, उसके बारे में जवाब-तलब किया गया। सीआईडी की टीम ने समय, स्थान और घटनाक्रम के जो साक्ष्य पीड़िता द्वारा उपलब्ध कराए गए हैं, उसके में चारों से पूछा गया। सीआईडी ने पीड़िता के बयान के आधार पर पूछा कि जो बात पीड़िता कह रही है, इसमें उनका क्या कहना है। उनके बयान से फिर दोबारा मामले में क्रॉस कर सीआईडी निष्कर्ष पर पहुंचेगा। अन्य लोगों से भी होगी पूछताछ : इस मामले में शामिल अन्य 17 लोगों से भी सीआईडी की टीम पूछताछ करेगी। सबको नोटिस जारी किया जा रहा है। जिनसे पूछताछ की गई, उन लोगों का नाम पीड़िता ने अपने बयान में लिया है। इन पर चल रही जांच : तत्कालीन पटमदा डीएसपी अजय केरकेट्टा, एमजीएम थाना के इंस्पेक्टर इमदाद अंसारी, लड्डन, अजीज बुलेट मिस्त्री (मानगो सहारा सिटी), अमित सिंह टेल्को, मनोज सहाय गोविंदपुर, निशांत नैयर उर्फ सोनू (मानगो सहारा सिटी), शंभु त्रिवेदी, अभिषेक मिश्रा (मानगो सहारा सिटी), कसू अहमद उर्फ तश्मीश (मानगो सहारा सिटी), उपेंद्र सिंह (मानगो सहारा सिटी), शाहिद नाम के दो व्यक्ति एक सहारा सिटी में रहता है एक लड्डन का दोस्त है। लंगड़ा मकसूद, राजेश सिंह, गुड्डू गुप्ता, गुरप्रीत सिंह टेल्को, मुन्नन उर्फ रुहुल बिल्डर, करीम केबुल वाला, मुन्ना धोबी। दायर हो सकती है सबको शामिल करने की याचिका: मानगो के सहारा सिटी अपार्टमेंट में नाबालिग के साथ हुए दुष्कर्म और उसके बाद उसका देह व्यापार कराए जाने के मामले में जिन लोगों का नाम पीड़िता ने अपनी गवाही में लिया है, उन सब पर धारा 319 के तहत याचिका दायर की जा सकती है। यह याचिका अभियोजन पक्ष की ओर से दायर की जाएगी। इसके बाद तीन प्रमुख आरोपियों के अलावा अन्य जो लोग गवाही में आरोपित किए गए हैं, उन्हें भी केस में शामिल कर लिया जाएगा। इसके बाद यह अदालत के अंतर्गत आता है कि वह मामले में कार्रवाई करते हुए सभी आरोपियों को समन जारी करे। एडीजे-5 की अदालत में चल रहे इस मामले में अब तक पीड़िता, उसके अभिभावक नानक चंद सेठ, उसकी पत्नी ममता सेठ और बहन अनीता की गवाही हो चुकी है। पीड़िता की मां की गवाही का प्रतिपरीक्षण होना बाकी है। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद धारा 319 के तहत याचिका दायर की जा सकती है।पीड़िता के अभिभावक नानक चंद सेठ ने बताया कि वे लोग इस मामले में अभियोजन पक्ष से बात करेंगे और उनसे याचिका दायर करने को कहेंगे। यदि इसके बावजूद भी याचिका दायर नहीं होती है, तब वे लोग अपने निजी वकील ममता सिंह के जरिए इस दिशा में कार्रवाई करेंगे। इस मामले में जिन लोगों का नाम गवाही में आया है, उन पर न तो पुलिस ने आरोप पत्र दाखिल किया है और न ही उन पर कोई कार्रवाई की है। पूरी गवाही में उन सब को आरोपित किया गया है तो उनका भी अदालत में हाजिर होना आवश्यक है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sahara City Case CID interrogated four in raping a minor