DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

40 व्हाट्सएप ग्रुप पर फैलाई गई बच्चा चोरी की अफवाह

व्हाट्सएप ग्रुप और फेसबुक पर बच्चा चोरी का झूठा मैसेज वायरल कर अफवाह फैलाने के मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने बताया एक पत्रकार ने व्हाट्सएप पर 40 ग्रुप बनाए और सभी में बच्चा चोरी की अफवाह का मैसेज वायरल किया।  एसएसपी अनूप टी मैथ्यू के मुताबिक,   किसी ग्रुप में पत्रकार को रखा तो किसी में पुलिस अधिकारी को, किसी ग्रुप में बीडीओ-सीओ को तो किसी में नेता को। इस ग्रुप का एडिमन शंकर गुप्ता भी था।
यह है मैसेज में : मैसेज के अनुसार, ईचड़ा टोला में 10 मई की रात 10 बजे एक बच्चा चोर को पकड़ा गया। उसकी पिटाई कर पुलिस के हवाले कर दिया गया। दूसरे मैसेज में लिखा है कि 10 मई की शाम को राखामाइंस स्कूल के पास बच्चा चोर को देखा गया, जो भाग निकला। तीसरे मैसेज में लिखा गया है कि 9 मई को राखा कॉपर में बच्चा चोर को देखा गया और वह भी भाग गया। गांव वाले बता रहे थे कि तीन लोग थे और भूरे रंग का कपड़ा पहने हुए थे। उनके पास नशीली गोलियां, इंजेक्शन, स्प्रे, रूई और रूमाल पाया गया है। ये हिंदी, बांग्ला और मलयाली भाषा में बात करते हैं। इस तरह के कई मैसेज हजारों ग्रुप में आरोपियों ने वायरल किए। इस मामले को जिला पुलिस नागाडीह हत्याकांड से भी जोड़कर देख रही है।  पुलिस का मानना है कि वहां तक यह मैसेज पहुंचा, जिसके बाद लोग गोलबंद हुए। उसके बाद वहीं से कुछ वीडियो भी भेजे गए। 
टीम में ये थे शामिल : छापेमारी कर झूठा मैसेज वायरल कर अफवाह फैलाने जादूगोड़ा गांधी मार्केट निवासी सौरभ कुमार  को गिरफ्तार करने वाली टीम में डीएसपी बिमल कुमार, मुसाबनी डीएसपी अजीत कुमार बिमल, परसूडीह थानेदार अनिमेष गुप्ता, बागबेड़ा के प्रभारी थानेदार राजेश रंजन शामिल थे।  
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:rumor of child theft has been viral on 40 whatsapp group