ruckus after the death of trainee of tata motors - टाटा मोटर्स के ट्रेनी की मौत के बाद हंगामा DA Image
20 नबम्बर, 2019|11:02|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टाटा मोटर्स के ट्रेनी की मौत के बाद हंगामा

default image

टाटा मोटर्स के एक एनईईएम ट्रेनी की मौत के बाद उसके परिजनों ने रविवार को टेल्को लेबर ब्यूरो के सामने हंगामा किया। परिजन टाटा मोटर्स अस्पताल प्रबंधन से मुआवजे की मांग कर रहे थे। आदिवासी मूलवासी एकता परिषद के अध्यक्ष दीनकर कच्छप अपने समर्थकों के साथ परिजनों को समर्थन दे रहे हैं। मृतक का नाम इतवा वांडा (22) है, जो रांची के गंगाधर हेसलाबेड़ा का निवासी है।

एतवा के पिता कैला वांडा के अनुसार, वह कंपनी में प्रशिक्षण के लिए आया था। 16 जुलाई को उसके कंधे के पास गिल्टी उभर जाने के चलते उसका टाटा मोटर्स अस्प्ताल में ऑपरेशन हुआ था। ऑपरेशन के बाद अचानक उसकी तबीयत बिगड़ गई। इसके बाद उसे कोलकाता के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां तीन महीने तक इलाज चलने के बाद चिकित्सकों ने जवाब दे दिया। 22 अगस्त को उसे टाटा मेन अस्पताल लाया गया। यहां इलाज के दौरान शनिवार को उसकी मौत हो गई। परिजनों का कहना है कि शुरुआत में चिकित्सा में हुई लापरवाही के चलते उसकी जान चली गई। उन्हें इसका मुआवजा मिलना चाहिए।

आदिवासी-मूलवासी एकता परिषद के अध्यक्ष दीनकर कच्छप के अनुसार, रविवार दोपहर वे लोग टाटा मोटर्स के लेबर ब्यूरो गेट पर पहुंचे और कंपनी के अधिकारियों से बातचीत की। उन्होंने मृतक के आश्रित को मुआवजा और एक आश्रित को नौकरी देने की मांग की। लेकिन, अधिकारियों की ओर से संतोषजनक जवाब नहीं मिला है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ruckus after the death of trainee of tata motors