Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड जमशेदपुरकॉलेजों के इंटरनल अंक न भेजने के कारण खराब हुआ रिजल्ट

कॉलेजों के इंटरनल अंक न भेजने के कारण खराब हुआ रिजल्ट

हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 08:20 PM
कॉलेजों के इंटरनल अंक न भेजने के कारण खराब हुआ रिजल्ट

- पीजी फाइनल सेमेस्टर में 34 प्रतिशत साइंस के छात्र पास होने से रह गए वंचित

- परीक्षा विभाग ने कॉलेजों के मत्थे मढ़ा विद्यार्थियों का परिणाम खराब होने का ठीकरा

जमशेदपुर प्रमुख संवाददाता

कोल्हान विवि की ओर से सोमवार को जारी पीजी फाइनल सेमेस्टर का परिणाम जारी किया गया। इसमें साइंस के 64 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए जबकि 36 प्रतिशत विद्यार्थियों का रिजल्ट अटक गया। इतनी बड़ी संख्या में छात्रों का परिणाम अटकने से सवाल उठने लगे। आखिर इतने छात्रों का रिजल्ट खराब कैसे हुआ। पड़ताल करने पर पता चला कि कई महाविद्यालयों ने कॉलेज का इंटर्नल अंक विश्वविद्यालय को भेजा ही नहीं। इस कारण विद्यार्थियों की मार्किंग करने पर उनका रिजल्ट खराब हो गया। विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग ने इसका खुलासा किया है। पहले यह माना जा रहा था कि कोरोनाकाल में कॉलेजों में ऑफलाइन मोड में पढ़ाई नहीं होने के कारण ऐसा हुआ होगा, लेकिन बाद में यह बात साफ हुई कि इंटरनल अंक विवि को नहीं भेजने के कारण रिजल्ट खराब हुआ। चूंकि इस बार विश्वविद्यालय की ओर से परीक्षा के महज एक माह के भीतर रिजल्ट जारी कर दिया गया, इसलिए भी कॉलेज इंटरनल अंक विवि के परीक्षा विभाग को नहीं भेज सके। छात्र संगठनों ने अब इसका विरोध शुरू कर दिया है। वैसे सोमवार को जारी किए गए पीजी फाइनल सेमेस्टर का रिजल्ट जारी किया गया। इसमें आर्ट्स के 80 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं तो वहीं कॉमर्स के 90 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए हैं। साइंस का रिजल्ट खराब रहा है।

कोट :

जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज व ग्रेजुएट कालेज फॉर वीमेंस जमशेदपुर समेत कई महाविद्यालयों से पीजी फाइनल सेमेस्टर के छात्रों का इंटरनल अंक प्राप्त नहीं हो सका। इस वजह से परेशानी हुई है।

- डॉ अजय कुमार चौधरी, परीक्षा नियंत्रक-केयू

epaper

संबंधित खबरें