DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिसवालों ने दुष्कर्म के आरोपी को जूस पिलाकर भेजा जेल

पुलिसवालों ने दुष्कर्म के आरोपी को जूस पिलाकर भेजा जेल

परसूडीह के गोलपहाड़ी में रहने वाले रेल कर्मचारी मानिकचंद्र दास को जेल भेजने से पहले उसे कुछ पुलिस वालों ने जूस पिलाया। उसे कोर्ट से बाहर एक ठेले पर ले गए। वहां चाय-नाश्ता कराया गया। उसके बाद ही उसे पेशी के लिए ऑटो से कोर्ट ले जाया गया। इससे पहले पुलिस वाले आरोपी के साथ चाय नाश्ता और जूस के ठेले पर काफी देर तक रुके रहे। इधर, नाबालिग ने बुधवार को कोर्ट में 164 का बयान दिया और कहा कि उसे दवा दे दी जाती थी उसके बाद वह बेहोश हो जाती थी। उसके बाद ही उससे गलत काम किया जाता था। घटना के बाद उसके शरीर में दर्द होता था, लेकिन उसे कुछ भी समझ में नहीं आता था कि ऐसा क्यों होता है। गर्भवती होने के बाद जब डॉक्टरों ने बताया, तब नाबालिग को पूरा माजरा समझ में आया। इसके पहले परसूडीह पुलिस ने नाबालिग का मेडिकल एमजीएम अस्पताल में कराई। सीडब्लूसी की पहल पर खुला मामला : पूरा मामला सीडब्लूसी तक पहुंचा हुआ था। इस मामले को सीडब्लूसी की ओर से गंभीरता से लिया गया था। इसके बाद मामला सामने आया। इसके बाद घटना की जानकारी परसूडीह पुलिस को दी गयी और पुलिस ने आरोपी को मंगलवार की शाम को घर से ही गिरफ्तार कर लिया था। पीड़िता को चाइल्ड लाइन में रखा गया है। पीड़िता को मदद करने और मामले को पुलिस तक ले जाने में बाल कल्याण समिति के चेयरपरसन पुष्पा रानी तिर्की, अलोक भाष्कर, लखी दास, पवन कुमार, रंजीत प्रसाद सिन्हा और चाइल्ड लाइन की अर्चना घोष और संगीता कुमारी की अहम भूमिका रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Policemen sent the accused of rape to juice after being jailed