DA Image
1 अक्तूबर, 2020|6:52|IST

अगली स्टोरी

पुलिस वाला मुकरा, अखिलेश सहित दो बरी

पुलिस वाला मुकरा, अखिलेश सहित दो बरी

जेल के सिपाही और केस के शिकायकर्ता लखन यादव द्वारा अपने ऊपर हुए हमले में अखिलेश सिंह के शामिल नहीं होने की गवाही देने के बाद अदालत ने अपराधी अखिलेश सिंह और अजय सिंह को मंगलवार को बरी कर दिया। यह फैसला फर्स्ट क्लास मजिस्ट्रेट दर्शना कुमारी की अदालत में सुनाया गया। इस मामले में बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता विद्या सिंह ने पैरवी की। अधिवक्ता ने बताया कि नौ दिसंबर 2005 को साकची थाने में साकची जेल के सिपाही लखन यादव ने प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। इसमें आरोप लगाया गया था कि अखिलेश सिंह, अजय सिंह सहित अन्य लोगों ने उसके साथ मारपीट की है। जब मामला अदालत में न्यायिक प्रक्रिया के अंतर्गत आया तो लखन सिंह ने अखिलेश सिंह के घटना में शामिल होने से इनकार कर दिया। उसने कहा कि उसे पीछे से धक्का दिया गया था, इसलिए वह किसी को पहचान नहीं सकता। अखिलेश सिंह के बारे में उसने कहा था कि उस पर हुए हमले में अखिलेश सिंह शामिल नहीं था। अधिवक्ता विद्या सिंह के अनुसार इन सभी बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए तथा अन्य पहलुओं के मद्देनजर अखिलेश सिंह और अजय सिंह को अदालत ने बरी कर दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Policeman Mukra two acquitted including Akhilesh