DA Image
13 अगस्त, 2020|7:55|IST

अगली स्टोरी

ट्रेन जाते ही बंद होगी प्लेटफॉर्म की लाइट

default image

रेलवे ने खर्चों में कटौती करने के लिए नई तकनीक का सहारा लेना शुरू कर दिया है। दक्षिण पूर्व रेलवे स्टेशन पर बिजली की खपत कम करने के लिए प्लेटफार्म पर स्वचालित लाइट नियंत्रण सिस्टम लगाने की तैयारी की गई है। टाटानगर में भी स्वचालित लाइट नियंत्रण सिस्टम की मदद से प्लेटफार्म पर होने वाली बिजली की खपत को 70 प्रतिशत कम किया जाएगा। इसे लेकर जोनल मुख्यालय ने टाटानगर सहित अन्य स्टेशनों से फीडबैक मांगा है। यह सिस्टम प्लेटफार्म के दोनों ओर आउटर पर लगे सिग्नल की मदद से संचालित होगा। जैसे ही ट्रेन आउटर पर लगे सिग्नल को पार करते हुए प्लेटफार्म की सीमा में प्रवेश करेगी, उस प्लेटफार्म की शत प्रतिशत लाइट खुद ही जल जाएगी। जब तक ट्रेन यहां खड़ी रहेगी, लाइट जलती रहेगी और जैसे ही ट्रेन प्लेटफार्म से रवाना होकर आउटर के सिग्नल को पार करेगी, प्लेटफार्म की 70 प्रतिशत लाइट खुद बंद हो जाएगी। इस व्यवस्था को रेलवे द्वारा खर्च में कटौती करने के रूप में देखा जा रहा है। टाटानगर में कम से कम 1500 यूनिट बिजली की कम खपत होगी। अभी तक यह व्यवस्था जबलपुर और बिलासपुर स्टेशन पर शुरू की गई है। अब टाटानगर सहित चक्रधरपुर रेल मंडल के अन्य स्टेशनों पर भी लागू की जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Platform light will stop as soon as the train leaves