DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पारडीह काली मंदिर हादसा : चारों मृत्तक थे स्कूली दोस्त, हाईवे पर पार्टी करने गए थे

पारडीह काली मंदिर हादसा : चारों मृत्तक थे स्कूली दोस्त, हाईवे पर पार्टी करने गए थे

पारडीह कालीमंदिर के निकट मंगलवार रात हुई सड़क दुर्घटना में जिन चार लोगों की मौत हुई (रोमी, जट्टे, कल्लू और अंकित) सभी दोस्त थे और पार्टी के लिए हाईवे गए थे। शाम से ही विक्की के कार पर बैठकर दस नंबर बस्ती में घूम रहे थे।

इनमें घायल विक्की कार चलाक है और कार मालिक रिंकू से यह कहकर गाड़ी लिया था कि परिवार के लोगों को बाहर पार्टी पर ले जाना है। इस कार पर सवार रोमी, जट्टे, कल्लू और विक्की चारों दोस्ते थे। लेकिन अंकित, विक्की के कहने पर कार पर सवार हुआ था। विक्की की शादी अंकित की बहन से 9 मई को होने वाली है।

किसी की बर्थ डे पार्टी नहीं थी : मंगलवार रात साढ़े 10 बजे कार से हाईवे पार्टी के लिए निकले। किसी ने अपने घर में नहीं बताया कि किसकी पार्टी में जा रहे हैं। उन्होंने बहाना बनाया था कि बर्थडे पार्टी है। जबकि घायल और मृत्तकों में किसी का भी 27 फरवरी को जन्मदिन नहीं था। सबसे नजदीकी जन्मदिन शिवा उर्फ जट्टे का था जो 11 मार्च को है।

काकू को हटाकर अंकित को मौत ने बुलाया : उनके साथ एक बस्ती का ही उनका दोस्त काकू भी कार पर सवार हुआ था, लेकिन अंकित के आने के चलते काकू को गाड़ी से उतार दिया गया और पांचों पार्टी के लिए हाईवे चले गए। बस्ती में लोग चर्चा कर रहे हैं कि काकू को मौत साथ नहीं ले गई जबकि अंकित को मौत ने बुलाया।

घायल की स्थिति चिंताजनक : घायल 24 वर्षीय गुरमीत सिंह उर्फ विक्की है। उसे टीएमएच में एचडीयू में भर्ती किया गया है। उसकी स्थिति गंभीर बनी है। ग्लास से उसका गला कट गया है।

टैंकर और डंपर के बीच दब गई कार : पारडीह कालीमंदिर के निकट इच्छापुर में यह दुर्घटना घटी। स्थानीय लोगों ने बताया कि सभी जिस कार पर सवार थे, उसकी रफ्तार काफी तेज थी। कार सीधे मुड़ रहे टैंकर से टकराई। कार के पीछे डंपर आ रहा था। टैंकर से टकराते ही पीछे से डंपर ने ठोक दिया। टैंकर और डंपर के बीच कार दब गई। डंपर चालक गाड़ी पीछेकर वहां से भाग गया जबकि टैंकर वहीं खड़ा रहा। स्थानीय लोगों ने शव को बाहर निकाला और पुलिस को इसकी सूचना दी।

पहले मिली कार मालिक को सूचना : दुर्घटना स्थल पर विक्की को थोड़ा होश में था तो उससे कार के मालिक रिंकू का लोगों ने नंबर लिया और फोन कर जानकारी दी। उससे अंकित के पिता को जानकारी मिली। रात में ही अंकित की पहचान कर ली गई। बाद में अन्य का पता चला।

ये हैं मृत्तक (सब के साथ फोटो है)

रवीन्द्र कुमार सिंह उर्फ रोमी (24 वर्ष) पिता राजेन्द्र सिंह, पता क्वार्टर नम्बर 161 सुखिया रोड। पिता टेंपो चलाते हैं। दो भाई थे, रवीन्द्र उनमें छोटा था। उसने आईटीआई किया था। विद्या ज्योति स्कूल से मैट्रिक की पढ़ाई की थी और एबीएम कालेज से प्लस टू किया था। आईटीआई के आधार पर ही उसकी आदित्यपुर स्थित एक कंपनी में नौकरी लग गई थी और 28 फरवरी को उसे कंपनी में योगदान देना था। एक मार्च से उसकी पहली नौकरी शुरू होने वाली थी।

अविनाश सिंह उर्फ कल्लू (24 वर्ष) पिता बृजदेव प्रसाद, पता क्वार्टर नम्बर 125 सुखिया रोड। पिता पहले टिनप्लेट में काम करते थे। वीआरएस लेने के बाद सपरिवार अपने मूल गांव बिहार के मुजफ्फरपुर जिला के सरैया स्थित रघुनाथपुर गांव चले गए थे। अविनाश यहां अकेले रहता था। पिता को लकवा मारा है। बड़े भाई का नाम प्रकाश है जो दिल्ली में काम करता है। दो बहनों की शादी हो गई है। अविनाश कल ही गांव से लौटा था।

शिव सिंह उर्फ जट्टे (24 वर्ष) पिता संतोष सिंह, पता देबु बगान क्वार्टर नंबर 15 का निवासी था। विद्या ज्योति स्कूल से मैट्रिक तक की पढ़ाई की थी। रेलवे में नौकरी के लिए उसने मंगलवार को ही फार्म भरा था। जट्टे का एक छोटा भाई भी है। वह घर से रात पौने 11 बजे यह कहकर निकला था कि हाईवे में खाना खाने जा रहे हैं।

अंकित सिंह (19 वर्ष) पिता सर्वजीत सिंह, पता पद्मा रोड क्वार्टर नम्बर 156 दस नम्बर बस्ती। पिता क्रेन मैकेनिक हैं। खालसा स्कूल से उसने मैट्रिक की पढ़ाई की थी। इंजीनियरिंग में दाखिले की तैयारी कर रहा था। शाम में सब्जी लेने के लिए निकला था और घर में सब्जी रखकर चुपके से निकल गया था। उसके बहनोई राजू सिंह ने बताया कि उसे बार-बार वह फोन कर रहे थे तो जवाब आ रहा था कि थोड़ी ही देर में आ जाएगा। उसके बाद उसकी मौत की खबर आई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pardih Kali Temple Incident: Four friends were school friends, went to party on the highway. Pardih Kali Temple Incident: Four friends were school friends, went to party on the highway.