Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड जमशेदपुरटाटानगर रेलवे स्कूल बंद करने का आदेश, आक्रोश

टाटानगर रेलवे स्कूल बंद करने का आदेश, आक्रोश

हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरNewswrap
Mon, 29 Nov 2021 07:40 PM
टाटानगर रेलवे स्कूल बंद करने का आदेश, आक्रोश

टाटानगर रेलवे के 60 वर्ष पुराने मिक्स हाईस्कूल को बंद करने का आदेश चक्रधरपुर मंडल कार्मिक विभाग से जारी हुआ है। इससे 2022 में किसी बच्चे का रेलवे स्कूल में एडमिशन नहीं होगा। पहले से पढ़ने वाले बच्चों को दूसरे स्कूलों में एडमिशन लेना पड़ेगा। रेलवे स्कूल बंद को लेकर 29 अक्तूबर को जारी आदेश से बागबेड़ा के पंचायत प्रतिनिधि आक्रोशित हैं। रविवार को साईं मंदिर परिसर में बैठक कर जिला पार्षद किशोर यादव ने रेलवे के आदेश को गलत ठहराया।

कहा कि रेलवे द्वारा हाईस्कूल को मार्च 2022 से बंद करने का आदेश छात्र विरोधी है, क्योंकि सीबीएसई बोर्ड के बच्चों का दूसरे स्कूल में जल्द एडमिशन नहीं मिलेगा। स्कूल बंद होने के आदेश से बच्चों के अभिभावक परेशान हैं। इससे रेलवे को विचार करनी चाहिए। बागबेड़ा में रेलवे हाईस्कूल की स्थापना 1962 में हुई थी, जहां रेल कर्मचारियों के साथ स्थानीय लोगों के बच्चे स्कूल में पढ़ते थे, जिसे बंद करने की योजना से शिक्षकों को दूसरे विभाग में समायोजित किया जा रहा है। अभी सात शिक्षक हैं।

अभिभावक-प्रिंसिपल की हुई थी बैठक

18 नवंबर को स्कूल के प्रिंसिपल रत्नेश कुमार ने कक्षा 6 से 9 तक के 120 छात्रों के अभिभावकों के साथ बैठक कर रेलवे की योजना से अवगत करा दिया था। प्रिंसिपल ने अभिभावकों को बताया था कि कक्षा 10 के छात्रों के लिए दिक्कत नहीं है, क्योंकि उनका एडमिट कार्ड आ गया है। सर्टिफिकेट भी मुहैया करा दिया जाएगा। लेकिन कक्षा 6 से 9 में पढ़ने वालों छात्रों का स्कूल टीसी दे रहा है, ताकि मार्च 2022 के सत्र में बच्चों का एडमिशन दूसरे स्कूलों में हो जाए। अभी स्कूल में रेल कर्मचारियों के बच्चों की संख्या नाममात्र है। ज्यादातर बागबेड़ा, कीताडीह, जुगसलाई और हरहरगुट्टू समेत अन्य क्षेत्र के बच्चे पढ़ते हैं।

एक को ज्ञापन व चार को धरना

जिला पार्षद के अनुसार, एक दिसंबर को रेलवे महाप्रबंधक के नाम एईएन को सौंपेंगे। चार दिसंबर को रेलवे हाईस्कूल बंद करने खिलाफ के स्कूल के सामने अभिभावक के साथ क्षेत्र के जनप्रतिनिधि एक दिवसीय उपवास पर बैठेंगे। वहीं, स्थानीय सांसद, विधायक, उपायुक्त से मिलकर स्कूल बंद नहीं होने देने का अनुरोध करेंगे। बैठक में धीरेंद्र झा, सूचित मिश्रा, ध्रुव सिंह, अवधेश शर्मा समेत अन्य दर्जनों अभिभावक शामिल थे।

epaper

संबंधित खबरें