DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रतिभाशाली बच्चों को निखारने की जरूरत : राज्यपाल

कालिंदी समाज द्वारा प्रतिभा सम्मान समारोह एवं भाषा-संस्कृति संध्या का आयोजन बिरसा मुंडा टाउन हॉल में किया गया। कार्यक्रम में राज्यपाल मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित हुईं। कालिंदी समाज द्वारा पारंपरिक तरीके से महामहिम का स्वागत किया गया। इस मौके पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि शिक्षा किसी भी समाज के सामाजिक और आर्थिक जीवन स्तर में उतरोत्तर विकास के लिए बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि कालिंदी समाज द्वारा प्रतिभा संपन्न बच्चों को सम्मानित करके उनका हौंसला बढ़ाने का यह प्रयास सराहनीय है। उन्होंने कहा कि कालिंदी समाज के लोगों को कला विरासत में मिली है। उन्होंने कहा कि झारखंड के बच्चों में प्रतिभा की कमी नहीं है आवश्यकता बस उन्हें प्रोत्साहित करने की है। उन्होंने कहा कि सभी विश्वविद्यालयों में परफॉर्मिंग आर्ट्स विभाग खोलने का निर्देश दिया गया है। रांची विश्वविद्यालय में तो इसकी शुरुआत भी हो गई है। उन्होंने कहा कि कालिंदी समाज को संविधान के आधार पर जो सुविधा मिलनी चाहिए वो नहीं मिल रही है। इसको ध्यान में रखकर इसी वर्ष अनुसूचित जाति कमीशन बना है जल्द ही इसका लाभ आप सबों को मिलेगा। कार्यक्रम में कालिंदी समाज के अध्यक्ष मनोहर कालिंदी द्वारा राज्यपाल को पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया गया। कालिंदी महिला समाज की अध्यक्ष सुचित्रा कालिंदी ने शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। इस अवसर पर कालिंदी समाज के कलाकारों द्वारा नृत्य संगीत प्रस्तुत किया। महामहिम द्वारा कालिंदी समाज के 10 वीं और 12वीं में उतीर्ण बच्चों को सम्मानित किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Need to Refine Talented Children