DA Image
28 नवंबर, 2020|1:49|IST

अगली स्टोरी

पैगंबरे इस्लाम की जीवनी पर ऑनलाइन नातिया मुशायरा

पैगंबरे इस्लाम की जीवनी पर ऑनलाइन नातिया मुशायरा

बज्मे कविता और साहित्य ने शनिवार को ऑनलाइन जलसा-ए-सीरतुन्नबी और नातिया मुशायरा का आयोजन किया। इसकी अध्यक्षता शायर असलम बद्र ने की। नातिया मुशायरे में पैगंबरे इस्लाम की जीवनी और विशेषताओं का स्तुति गान किया गया। हाफिज वलीउल्लाह के कुरान पाठ से जलसे का आगाज हुआ। हाफिज वकार, मौलाना अब्दुल रशीद, नासिर हुसैन नासिर, सफीउल्लाह सफी, सद्दाम धानी, खुर्शीद आलम नदवी, जाहिद हुसैन नदवी एवं प्रो. गौहर अजीज ने नातिया कलाम पेश किए। मुफ्ती जाहिद नासरी अल-कासमी, मौलाना शाहिद नासरी अल-हनाफी और मौलाना आजम नदवी वक्ता थे। मौलाना आजम नदवी ने कहा- हम किसी को भी किसी भी परिस्थिति में पैगंबर के व्यक्तित्व पर उंगली उठाने वाले को बर्दाश्त नहीं करेंगे। फ्रांस में पैगंबरे इस्लाम के शान में गुस्ताखी की निंदा की। सफीउल्लाह सफी ने निदेशालय के कर्तव्यों का पालन किया। जाहिद नदवी ने आभार प्रकट किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Natia Mushaira online on biography of Prophet Islam