DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  जमशेदपुर  ›  मानगो जलापूर्ति योजना बेहाल, पानी के लिए भटक रहे तीन हजार लोग
जमशेदपुर

मानगो जलापूर्ति योजना बेहाल, पानी के लिए भटक रहे तीन हजार लोग

हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरPublished By: Newswrap
Thu, 05 Nov 2020 10:50 PM
मानगो जलापूर्ति योजना बेहाल, पानी के लिए भटक रहे तीन हजार लोग

पिछले दो महीने से मानगोवासी पानी की समस्या झेल रहे हैं। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के उदासीन रवैये के कारण ऐसा लगता है कि यह समस्या अभी कई दिनों तक बरकरार रहेगी। लिहाजा तीन हजार लोगों को पानी के लिए दर-दर भटकना पड़ सकता है।मानगो जलापूर्ति की देखरेख कर रही ठेका कंपनी पिछले दो महीने से बिना किसी लिखित आधार के काम कर रही है। 13 जून 2019 को एजेंसी को दो साल का ठेका मिला था। जो 12 जून 2020 को समाप्त हो गया। इसके बाद एजेंसी को तीन महीने की अवधि विस्तार दी गई, वह भी 12 सितंबर को खत्म हो गया। बावजूद इसके एजेंसी को बिना किसी लिखित आधार के काम कराया जा रहा है। एजेंसी को कोई वर्क ऑर्डर भी नहीं मिला है। नियम की उड़ रहीं धज्जियां, कैसे होगा एजेंसी का भुगतानसरकारी नियमों के तहत बिना लिखित आधार के किसी भी कंपनी को काम कराना असंवैधानिक है। मानगो जलापूर्ति की संवेदक एजेंसी का पिछले पांच महीने जून, जुलाई, अगस्त, सितंबर व अक्तूबर का भुगतान बकाया है। जबकि सितंबर में ही एजेंसी का अवधि विस्तार खत्म हो चुका है। अब बिना लिखित आधार के एजेंसी को सितंबर, अक्तूबर और नवंबर का भुगतान कैसे होगा, यह देखने वाली बात है। कोटहमारा अवधि विस्तार गत 12 सितंबर को समाप्त हो गया है। नया लिखित अवधि विस्तार व वर्क ऑर्डर नहीं मिला है। वहीं पांच महीने से भुगतान नहीं हुआ है। बिना वर्क ऑर्डर के काम करने में दिक्कत हो रही है। -अक्षय हलधर, प्रोजेक्ट मैनेजर, मानगो जलापूर्ति

संबंधित खबरें