DA Image
26 फरवरी, 2021|3:54|IST

अगली स्टोरी

विधायक योजना राशि खर्च करने में सबसे आगे रहीं मेनका, सबसे पीछे कुणाल

विधायक योजना राशि खर्च करने में सबसे आगे रहीं मेनका, सबसे पीछे कुणाल

1 / 2पूर्वी सिंहभूम जिले से पिछली विधान सभा के लिए निर्वाचित छह सदस्य, विधायक योजना...

विधायक योजना राशि खर्च करने में सबसे आगे रहीं मेनका, सबसे पीछे कुणाल

2 / 2पूर्वी सिंहभूम जिले से पिछली विधान सभा के लिए निर्वाचित छह सदस्य, विधायक योजना...

PreviousNext

पूर्वी सिंहभूम जिले से पिछली विधान सभा के लिए निर्वाचित छह सदस्य, विधायक योजना की राशि खर्च करने के मामले में कहां रहे, यह स्पष्ट हो गया है। 2015-16 से 2019-20 के दौरान इन्हें मिले 18-18 करोड़ रुपए की विकास निधि को खर्च करने के मामले में सबसे आगे पोटका की विधायक मेनका सरदार रहीं। जबकि सबसे फिसड्डी बहरागोड़ा के विधायक कुणाल षाड़ंगी साबित हुए। यह आंकड़ा अद्यतन व्यय पर आधारित है, जो इसी माह जारी हुई है।

हालांकि योजनाओं के चयन से लेकर उनकी पूर्णता और डीसी बिल जमा करने तक की प्रक्रिया काफी जटिल है। और इस कसौटी पर खरा उतरना इतना आसान भी नहीं है। परंतु इसमें बहुत कुछ विधायकों के द्वारा चयनित निर्माण एजेंसियों की भी भूमिका होती है। एजेंसी विधायक अपनी पसंद के अनुसार चुनते हैं। कुछ विधायकों ने एक से अधिक एजेंसी से काम कराया है। जैसे शुरू से रघुवर दास की एजेंसी जिला परिषद है जबकि अधिकांश की ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल। वैसे सरयू राय की एजेंसी जमशेदपुर अक्षेस व मानगो नगर निगम, रामचंद्र सहिस की ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल, मेनका सरदार की ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल व एनआरइपी, लक्ष्मण टुडू की ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल और कुणाल षाड़ंगी की ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल, एनआरइपी और जिला परिषद।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Maneka leads the MLA scheme amount Kunal is behind