अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जान से खिलवाड़ : खराब पहिये के साथ 135 किमी तक दौड़ी ट्रेन

जान से खिलवाड़ : पहिये संग 135 किमी तक दौड़ी ट्रेन

कुर्ला-शालीमार एक्सप्रेस सोमवार सुबह बेपटरी होने से बच गई। टाटानगर स्टेशन से खड़गपुर तक 135 किमी खराब पहिये के साथ कुर्ला एक्सप्रेस लाइन पर दौड़ती रही। खड़गपुर स्टेशन की जांच में एक बोगी का पहिया खराब मिला। इससे ट्रेन परिचालन विभाग में हड़कंप मच गया। हादसा होने से करीब डेढ़ हजार यात्री अप्रिय घटना का शिकार हो सकते थे। टाटानगर से डाउन कुर्ला सुबह 7.20 बजे खुलकर करीब 10 बजे खड़गपुर पहुंची थी। बोगी काटने के बाद साढ़े 10 बजे ट्रेन हावड़ा रवाना हुई। टीएक्सआर बुकअप : पहिया मामले में टाटानगर स्टेशन के टीएक्सआर नायक (ट्रेन एग्जामिनर) को बुकअप कर पूछताछ में खड़गपुर बुलाया गया है। रेल परिचालन अधिकारियों का मानना है कि टाटानगर स्टेशन पर पहियों की ठीक से जांच होने से खराबी का पता चल जाता।टाटानगर स्टेशन से खड़गपुर तक खराब पहिये के साथ कुर्ला एक्सप्रेस लाइन पर दौड़ती रही। भला हो कि पहियों में खराबी के कारण बोगी बेपटरी नहीं हुई। लेकिन, खड़गपुर में बोगी काटने से यात्रियों को उतरने-चढ़ने में दिक्कत हुई।मशीन के भरोसे रेलवे : चक्रधरपुर मंडल स्थित महलीमुरुम स्टेशन की लाइन पर पहियों की जांच के लिए व्हील लोड इंपैक्ट डिटेक्टर मशीन लगी है। इसके सिग्नल पर सितंबर 2017 से 02 मार्च तक टाटानगर में 12 ट्रेन से कोच हटाए जा चुके हैं। लेकिन, मशीन से कुर्ला एक्सप्रेस में पहिया खराब का सिग्नल मिलने की पुष्टि नहीं हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kurla-Shalimar express ran with defeted wheels on 135 km.