DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्टेशन पर फिर खत्म हुआ बोतलबंद पानी

टाटानगर स्टेशन पर बुधवार सुबह एक बार फिर बोतलबंद पानी का स्टॉक खत्म हो गया था। इससे दिन में साढ़े नौ बजे यात्रियों में अफरातफरी मची थी। पांच प्लेटफॉर्म स्थित 17 स्टॉल, दोनों रेस्टूरेंट और जन आहार कैंटीन में एक भी बोतल नहीं था। इससे रेलवे वाणिज्य एवं खानपान अधिकारियों ने स्टेशन के पानी सप्लायर संतोष सिंह को तत्काल पानी की व्यवस्था का आदेश दिया है। दरअसल, बकाया जमा नहीं करने के कारण दानापुर स्थित प्लांट से टाटानगर स्टेशन पर छह दिनों से रेल नीर नहीं भेजा गया है। इससे मंगलवार देर रात को स्टेशन से रेल नीर का स्टॉक खत्म हो गए थे। बोतलबंद पानी न मिलने से रोज की 43 जोड़ी ट्रेनों के करीब 20 हजार यात्रियों को दिक्कत हो रही है।

गार्डेनरीच पहुंचा मामला: रेल नीर के कारण यात्रियों को हो रही परेशानी का मामला दक्षिण-पूर्व जोन पहुंच गया। इससे चक्रधरपुर मंडल एवं टाटानगर के अधिकारियों को तत्काल वैकल्पिक उपाय करने का आदेश मिला है। इससे मंगलवार दोपहर से स्टेशन के स्टॉल में यात्रियों को दूसरे ब्रांड का बोतलबंद पानी मिल रहा था। जरूरत के अनुसार सप्लाई नहीं होने की वजह से पानी कुछ घंटे में खत्म हो गया।

वाटर मशीन में उमड़ रही भीड़: बोतलबंद पानी नहीं मिलने से यात्रियों की भीड़ विभिन्न प्लेटफॉर्मों पर स्थित 9 वाटर वेंडिग मशीन, 182 नल और 7 वाटर कूलर मशीन पर उमड़ रही है। पानी की खपत बढ़ने के कारण वाटर वेंडिग मशीन व वाटर कूलर मशीन से शायद किसी यात्री को ठंडा मिल रहा है।

पांच ब्रांड का पानी मान्य: चक्रधरपुर मंडल द्वारा टाटानगर स्टेशन से बोतलबंद पानी की समस्या दूर करने के लिए पांच ब्रांड को मान्यता दी है। इसमें मैकडावेल के अलावा बिसलरी, एक्वाफीना व वीभो ब्रांड के बोतलबंद पानी शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: khatm hua botalaband paanee 21 5000 Finished bottled water on tatanagar station