DA Image
31 अक्तूबर, 2020|7:18|IST

अगली स्टोरी

डीएलसी कोर्ट से कान्वाई चालकों को झटका

default image

उपश्रमायुक्त राजेश प्रसाद ने सोमवार को कान्वाई चालकों को पत्र भेजकर स्पष्ट कर दिया कि टाटा मोटर्स प्रबंधन द्वारा सौंपे गए जवाब के मुताबिक वे सभी टाटा मोटर्स के मजदूर नहीं हैं। उन्होंने पत्र में लिखा कि औद्योगिक न्यायाधिकरण द्वारा आदेश आने पर वे आगे की कार्रवाई करेंगे। डीएलसी के इस आदेश के बाद कान्वाई चालकों के दो वर्षों के एक्सग्रेशिया एवं लॉकडाउन अवधि के 2 माह वेतन भुगतान का मामला फंस गया। इस फैसले पर ज्ञानसागर प्रसाद ने कहा कि झारखंड सरकार ने टाटा मोटर्स की दलील को खारिज कर दिया है। साथ ही नियम यह कहता है कि जबतक कोई नया आदेश आता नहीं है तबतक पूर्व की व्यवस्था बनी रहेगी। इस आधार पर कान्वाई चालकों की हर सुविधा जारी रहेगी। कान्वाई चालक डीएलसी के आदेश के विरुद्ध आवाज उठाएंगे और एक जुलाई को उपायुक्त से मिलकर पक्ष रखेंगे एवं उनके निर्णय के बाद अपना रणनीति तय करेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kanwai drivers were shocked by DLC court