DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झाविमो नेता तिलो सरदार हत्याकांड में दो दोषी करार, एक बरी-VIDEO

झाविमो नेता तिलो सरदार हत्याकांड में दो दोषी करार, एक बरी

सोनारी की सिदो कान्हू बस्ती तिलोभट्ठा में वर्ष 2012 में झाविमो नेता तिलो सरदार की हत्या में बुधवार को अदालत ने दो भाइयों को दोषी करार दिया। इसी मामले में एक को बरी कर दिया गया। सजा पर गुरुवार को फैसला होगा।

इस हत्याकांड में रमेश प्रमाणिक घटना के बाद से ही जेल में बंद है, जबकि रमेश के पिता करमू प्रमाणिक और भाई पिंटू प्रमाणिक जमानत पर बाहर थे। सजा रमेश प्रमाणिक और पिंटू प्रमाणिक को हुई, जबकि करमू प्रमाणिक को बरी कर दिया गया।

तिलो सरदार को 7 दिसम्बर 2012 को सिदो कान्हू बस्ती स्थित काली मंदिर के पास गोली मारी गई थी। उस समय वे पत्नी सुनीता सरदार के साथ टहल रहे थे। हमलावर पिंटू प्रमाणिक और रमेश प्रमाणिक दोनों ही बाइक से आए थे और तिलो सरदार के सीने में सटाकर एक गोली मार दी। स्थानीय लोगो की मदद से उन्हें टीएमएच में भर्ती कराया गया। यहां उन्होंने पुलिस को दिए बयान में बताया कि रमेश प्रमाणिक और पिंटू प्रमाणिक ने ही गोली मारी है। गोली मारने के सात दिनों के बाद 11 दिसम्बर 2017 को तिलो सरदार की टीएमएच में मौत हो गई।

मरने से पहले दिया था फर्द बयान : इस हत्याकांड में पुलिस ने पिंटू प्रमाणिक, रमेश प्रमाणिक और करमू प्रमाणिक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इस हत्याकांड में तिलो सरदार का दिया फर्द बयान, उनकी पत्नी सुनीता प्रमाणिक (प्रत्यक्षदर्शी) का बयान दोनों आरोपियों को सजा दिलाने में अहम साबित हुआ। बुधवार को इस हत्याकांड में रमेश प्रमाणिक को जेल से लाया गया, जबकि पिंटू प्रमाणिक और करमू प्रमाणिक अदालत में हाजिर हुए। पिंटू प्रमाणिक को दोषी करार दिए जाने के बाद न्यायिक हिरासत में ले लिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:JVM leader Tilo murder case: Two convicted, one acquitted