DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एवरेस्ट से हेमंत गुप्ता और पायो मुर्मू दिल्ली पहुंचे

एवरेस्ट से हेमंत गुप्ता और पायो मुर्मू दिल्ली पहुंचे

एवरेस्ट की चोटी पर तिरंगा लहराने के बाद दिल्ली पहुंचे टाटा स्टील के हेमंत गुप्ता ने कहा है कि दृढ़ इच्छा शक्ति काम आई। अभियान से चूकीं पायो मुर्मू ने कहा कि एवरेस्ट विजेता बनने से वंचित होने का मलाल है। ईश्वर का मिला साथ : दिल्ली से हेमंत ने दूसभाष पर बताया कि शुरुआती दौर में सबकुछ सहज लग रहा था। कैंप-4 से आगे की चढ़ाई में लाशें देखकर घबराहट होना स्वभाविक था। लेकिन इच्छा शक्ति को जगाकर सपना सच किया। विपरीत परिस्थित से जूझने की ट्रेनिंग को व्यवहार में लाने की कोशिश की। हिम्मत जुटाई और ईश्वर ने भी साथ दिया। अभियान करेंगे पूरा : पायो मुर्मू ने दिल्ली से बताया कि 26 हजार फुट में कैंप-4 तक कोई परेशानी नहीं हुई। बाद की तीन हजार फुट की चढ़ाई में नाकामी का मलाल रहेगा। अगली बार मौका मिला तो जरूर अभियान पूरा करूंगी। सेहत साथ नहीं देने से अभियान दल से पिछड़ गई। चिकित्सकों द्वारा आगे की चढ़ाई से मना करने से सपना चकनाचूर हो गया। मां का आशीर्वाद था : हेमंत गुप्ता ने कहा कि मां के आशीर्वाद से ही एवरेस्ट फतह हो सकता था। मां सविता गुप्ता की हर कदम पर आशीष और उत्साहवर्द्धन मेरी जीत का कारण बनी। पिता गोविंद प्रसाद गुप्ता के निधन के बाद मां ने हमें जुझारू बनाया। एवरेस्ट फतह के बाद मां से बात की तो उनका कहना था- ‘तू ठीक ठाक है न, अब जल्दी से घर लौट आ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Hemant Gupta and Paio Murmu reach Everest from Evere