DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमशेदपुर: बीएड के इस शिक्षक ने बीफ पार्टी का दिया न्योता,मच गया बवाल

beef party jamshedpur

आईआईटी मद्रास के विद्यार्थियों ने कुछ दिनों पहले गोमांस पार्टी का आयोजन किया था। अब जमशेदपुर में ग्रेजुएट कॉलेज के शिक्षक ने इसी तरह की पार्टी आयोजित करने की इच्छा व्यक्त की है। फेसबुक पर इस संबंध में उनकी पोस्ट से गुरुवार को आक्रोशित छात्राओं ने कॉलेज से उनकी बर्खास्तगी की मांग की है। 

ये लिखा है फेसबुक अकाउंट पर : ग्रेजुएट कॉलेज फॉर वीमेन (जीएससीडब्ल्यू) में बीएड के शिक्षक जीतराय हांसदा ने गुरुवार रात अपने फेसबुक अकाउंट पर एक टिप्पणी पोस्ट की थी। लिखा है-प्रिय साथियों, मुझे कोई बताएगा कि जमशेदपुर में बीफ कहां मिलेगा। मैं बीफ पार्टी देना चाहता हूं।

29 मई को ये लिखा था : जीतराय ने 29 मई को लिखा था- आदिवासियों में अंतिम संस्कार और विभिन्न त्योहारों के दौरान गोमांस खाया जाता है। इसके अलावा पर्व-त्योहार में भी काटते हैं। तो क्या हम भारत के कानून की वजह से अपना खान-पान और पारंपरिक अनुष्ठान बंद कर दें और हिंदू बन कर रहें। आदिवासियत को खत्म कर दें। ये कभी नहीं हो सकता। हम हिंदुस्तान के ऐसे कानून का विरोध करते हैं।

हिन्दुस्तानी कानूनी निर्माताओं को ये भी बता दूं कि भारत के राष्ट्रीय पक्षी 'मोर' को भी खाते हैं। यदि सही मायने में आदिवासियों को भारत का हिस्सा मानते हो तो आदिवासियों के हितों की भी रक्षा करते हुए ऐसा कानून बनाना बंद करो।

आक्रोशित विद्यार्थियों ने ज्ञापन सौंपा : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) और ग्रेजुएट कॉलेज की छात्र संघ ने इन टिप्पणियों पर हांसदा का विरोध किया है। कॉलेज से उन्हें तत्काल बर्खास्त करने की मांग करते हुए छात्र नेताओं ने कॉलेज की प्रभारी प्रोफेसर डॉ. उषा शुक्ला को ज्ञापन सौंप है।

माफी मांगे शिक्षक : कॉलेज संघ सचिव मूसैमी जेना ने कहा कि वे एक विशेष धर्म के प्रति आपत्तिजनक दृष्टिकोण वाले शिक्षक से पढ़ने को तैयार नहीं हैं। उन्होंने कहा कि सामाजिक साइट से आपत्तिजनक टिप्पणियों को हटाने के अलावा उन्हें समाज में बाधा पैदा करने के लिए माफी मांगनी चाहिए। डीसी को सौंपा ज्ञापन : एबीवीपी के कोल्हान विश्वविद्यालय के संयोजक सोनू ठाकुर ने कहा कि समाज में भगवा पंख शिक्षक के खिलाफ एकजुट हो गया है।

अगर शिक्षक को कुछ दिनों के अंदर बर्खास्त नहीं किया तो बड़े पैमाने पर कॉलेज बंद के लिए आंदोलन करेंगे। उन्होंने गुरुवार को पूर्व सिंहभूम के डीसी अमित कुमार को ज्ञापन सौंप है। डॉ. उषा शुक्ला ने कहा कि आगे की कार्रवाई के लिए ज्ञापन कोल्हान विश्वविद्यालय को भेजा गया है। केयू की वाइस चांसलर डॉ. शुक्ला मोहंती ने कहा विश्वविद्यालय प्रशासन दिशा-निर्देशों और कानून के अनुसार कार्रवाई करेगा।  वहीं, आपत्तिजनक टिप्पणी पोस्ट करनेवाले शिक्षक हांसदा शहर से बाहर हैं। फिलहाल उनसे बात नहीं हो पाई है।

राजनीति हो रही है : ग्रेजुएट कॉलेज फॉर वीमेंन में शिक्षक जीतराय हांसदा ने कहा कि कॉलेज में नौकरी अपनी जगह है। बीफ विवाद पर उनकी व्यक्तिगत टिप्पणी के साथ कुछ लेना-देना नहीं है। व्यक्तिगत राय थी और वह अब भी अपने राय के साथ खड़े हैं। गाय-वध करने पर प्रतिबंध आदिवासी अस्तित्व पर हमला है। सरकार सभी पर हिंदू धर्म को लागू करने की कोशिश कर रही है और हम आदिवासी इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे। अगर भगवा विंग के कुछ नेता या छात्र अपनी राजनीतिक हित के लिए नौकरी से बर्खास्तगी की मांग करते हैं, तो मैं इस मुद्दे पर लंबे आंदोलन के लिए जाउंगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Griffy college teachers want to give beef party, slogans in protest