DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रेच्युटी में 20 लाख की सीलिंग का मिले लाभ : टीडब्ल्यूयू

टाटा स्टील सहित देश भर की सभी निजी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारियों के ग्रेच्युटी की सीलिंग 10 लाख रुपये है। जबकि केंद्रीय कर्मचारियों को 20 लाख की सीलिंग के बाद टैक्स लगता है। इसलिए सभी कर्मचारियों को इसका लाभ दिलाते हुए उनकी तीन लाख की टैक्स कटौती से राहत दें। इंटक की दो दिवसीय 296वीं राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शनिवार को राजस्थान के उदयपुर में समाप्त हुई। बैठक के अंतिम दिन टाटा वर्कर्स यूनियन के महामंत्री सतीश कुमार सिंह ने इस मामले को उठाते हुए इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष जी संजीवा रेड्डी को एक ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचना जारी होने के बावजूद हमें अब तक इसका लाभ नहीं मिल रहा है। इसलिए केंद्र सरकार से जल्द वार्ता कर इसका लाभ दिलाने की मांग की गई। वहीं, उन्होंने परक्यूजिट टैक्स को समाप्त करने की अपील की है। राष्ट्रीय अधिवेशन में जुस्को श्रमिक यूनियन अध्यक्ष सह इंटक के राष्ट्रीय सचिव राकेश्वर पांडेय ने भी संबोधित किया। कहा कि देश में मात्र सात प्रतिशत कर्मचारी ही स्थायी हैं शेष 93 प्रतिशत अस्थायी। इसलिए इंटक को रियल स्टेट, आंगनबाड़ी, कृषि क्षेत्र में लगे मजदूरों पर ध्यान केंद्रित कर उन्हें जोड़ना चाहिए। इससे सदस्यों की संख्या और संगठन दोनों मजबूत होगा। झारखंड सरकार का मजदूर विरोधी कानून : राष्ट्रीय कार्यकारिणी में महामंत्री सतीश व सहायक सचिव नितेश राज ने झारखंड सरकार द्वारा श्रम कानून में किए गए बदलाव की जानकारी दी। कहा कि सरकार का नया संशोधन मजदूर विरोधी है। अब कर्मचारियों की छंटनी पर तीन वर्षों की जगह तीन माह में भी कोर्ट में अपील करने की स्वतंत्रता होगी जो गलत है और इसके खिलाफ हमें आवाज उठाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Gratuity of 20 lakh sealing benefits