ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड जमशेदपुरएयरपोर्ट के लिए धालभूमगढ़ में जल्द होगी ग्रामसभा

एयरपोर्ट के लिए धालभूमगढ़ में जल्द होगी ग्रामसभा

धालभूमगढ़ में जल्द ही ग्रामसभा होगी, ताकि एयरपोर्ट के लिए जमीन की व्यवस्था हो सके। एयरपोर्ट की जमीन का विवाद सुलझाने के लिए प्रशासन स्थानीय पंचायत...

एयरपोर्ट के लिए धालभूमगढ़ में जल्द होगी ग्रामसभा
हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरWed, 21 Feb 2024 06:00 PM
ऐप पर पढ़ें

धालभूमगढ़ में जल्द ही ग्रामसभा होगी, ताकि एयरपोर्ट के लिए जमीन की व्यवस्था हो सके। एयरपोर्ट की जमीन का विवाद सुलझाने के लिए प्रशासन स्थानीय पंचायत प्रतिनिधियों से मदद ले रहा है। धालभूमगढ़ के ग्रामीणों का सकारात्मक रुख देखकर प्रशासन ग्रामसभा का दिन मुकर्रर करेगा।
दूसरी ओर, धालभूमगढ़ एयरपोर्ट के फॉरेस्ट एनओसी की फाइल भी जमशेदपुर वन प्रमंडल से वन मुख्य संरक्षक रांची तक पहुंच गई है। इससे ग्रामसभा से जमीन की समस्या खत्म होने के साथ ही एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को झारखंड फॉरेस्ट से एनओसी मिलने की उम्मीद जगी है। मालूम हो कि धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट के लिए 99 हेक्टेयर जमीन की जरूरत है। लेकिन पोर्टल पर अभी 61 हेक्टेयर जमीन पोर्टल पर अपडेट हुआ है। इधर, एयरपोर्ट के लिए तीन गांव चार चक्का, बुरुडीह और कोकपाड़ा के नरसिंहगढ़ गांव के निवासियों ने सहमति दे दी है, जबकि दो गांव (देवशोल व रुआसोल) के निवासियों ने विरोध जताया है। इससे धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट बनाने का काम भी शुरू नहीं हुआ है। क्योंकि पहले वन विभाग ने एलीफेंट कॉरिडोर का पेच फंसा था। मार्च तक धालभूमगढ़ एयरपोर्ट की जमीन की समस्या सुलझ सकती है।

क्षेत्रीय उड़ान सेवा का मिलेगा बढ़ावा

क्षेत्रीय उड़ान सेवा को बढ़ावा देने के तहत पूर्वी सिंहभूम में एयरपोर्ट की योजना 2019 में बनी थी। इससे धालभूमगढ़ व चाकुलिया में निरीक्षण हुआ और धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट को मंजूरी मिल गई। लेकिन वन भूमि और एलीफेंट कॉरिडोर की समस्या उत्पन्न होने से केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय ने फाइल वापस कर दी। जमशेदपुर के सांसद द्वारा लगातार मुद्दा उठाने से एयरपोर्ट योजना पर कागजी कार्रवाई शुरू हुई है। बताया जाता है कि धालभूमगढ़ एयरपोर्ट बनाने में केंद्र व राज्य सरकार का तीन सौ करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने सौ करोड़ की मंजूरी दी थी। इसके बाद धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट की आधारशिला रखी गई, ताकि झारखंड के कोल्हान समेत ओडिशा व पश्चिम बंगाल के निवासियों को एयरपोर्ट की सुविधा मिल सके।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें