DA Image
24 जनवरी, 2020|7:28|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएनटी पर महंगी पड़ी सरकार की जल्दबाजी : सुदेश

आजसू पार्टी के सुप्रीमो सुदेश महतो ने कहा कि सीएनटी और एसपीटी एक्ट संशोधन पर राज्य सरकार ने जल्दबाजी की थी, जिसको देखते हुए राज्यपाल ने वापस कर दिया। वे शनिवार को सिदगोड़ा टाउन हॉल में आयोजित जनपरिचयन सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन का उनकी पार्टी शुरुआती दौर से ही विरोध करती रही। राज्यपाल द्वारा संशोधन का प्रस्ताव वापस करने के बाद जनता को भी लगने लगा कि आजसू पार्टी की सोच बिल्कुल सही थी। संवाद से न भागे सरकार : उन्होंने कहा कि किसी भी सरकार को संवाद से भागना नहीं चाहिए। दूसरे दल भी सीएनटी-एसपीटी एक्ट संशोधन पर संवाद बुलाने की मांग करते रहे हैं, लेकिन सरकार के अड़ियल रवैये के चलते पीछे हटना पड़ा। अब उम्मीद है कि ऐसे मसले पर सरकार बहस कराने से पीछे नहीं हटेगी। जीएसटी की तैयारी पुख्ता नहीं : उन्होंने कहा कि जीएसटी लागू करना देश हित में है, पर तैयारी सही ढंग से नहीं की गई। व्यापारियों का मानना है कि कहीं न कहीं जीएसटी लागू करने में कोताही बरती गई है, जो आगे परेशानी की सबब बन सकती है। जांच टीम का गठन हो : उन्होंने कहा कि देशभर में किसान आत्महत्या कर रहे हैं। झारखंड में भी किसानों ने आत्महत्या की है। राज्य में किसानों की स्थिति को देखते हुए सरकार को जांच टीम का गठन करना चाहिए, जिससे किसानों की असली स्थिति का पता चल सके। सैकड़ों लोग शामिल हुए : आजसू के जनपरिचय सम्मेलन में दूसरे दल को छोड़कर आने वाले सैकड़ों युवा, पुरुष और महिलाओं ने सदस्यता ग्रहण की। पार्टी में शामिल होने वाले कार्यकर्ताओं का सुदेश महतो ने माला पहनाकर स्वागत किया। इस मौके पर विधायक रामचंद्र सहिस, आजसू पार्टी के नेता चंद्रगुप्त सिंह, जिलाध्यक्ष कन्हैया सिंह, महानगर अध्यक्ष शंभू चौधरी, प्रवक्ता संजय सिंह, सपन सिंहदेव, नंदू पटेल, मो. हसन अंसारी, प्रो. श्याम मुर्मू, राजीव कर्मकार, अशोक पांडेय, छवि महतो, कांता सिंह, प्रमोद सिंह, कमलेश दुबे, देवाशीष चौधरी, मंजुला हांसदा, सुमित्रा यादव, राजेंद्र मेहता सहित अन्य लोग मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Government's haste on CNT: Sudesh