DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जॉर्ज फर्नांडिस को जमशेदपुर से था बेहद लगाव

भारत के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस को जमशेदपुर से बेहद लगाव था। जब भी उन्हें श्रमिकों की परेशानी खबर मिलती थे, वे जमशेदपुर आने को आतुर हो जाते थे।

1960 में टेल्को में श्रमिकों की हड़ताल की खबर मिली तो वे सभा में पहुंच गए और क्रांतिकारी भाषण से श्रमिकों का मनोबल बढ़ाया और उनकी मांगों को मनवाने के लिए प्रबंधन को मजबूर कर दिया। तब उनके साथ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर भी आए थे। 1977 में भारतीय भारी उद्योग मंत्री के तौर पर जॉर्ज फर्नांडिस और केंद्रीय इस्पात मंत्री बीजू पटनायक के साथ जमशेदपुर आए तब टाटा स्टील और इस्पात मंत्रालय के बीच किसी बिंदु पर विवाद हो गया था। उन्होंने कंपनी और केंद्रीय मंत्री बीजू पटनायक के साथ विचार विमर्श कर मामले को सुलझाया था। जॉर्ज के कई मित्र इस शहर में रहते थे, को-ऑपरेटिव कॉलेज के प्रो. एपी झा भी उनके चहेतों में एक थे। प्रो. झा के पुत्र का जन्म होने पर उनके आदित्यपुर स्थित आवास पर आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे और मित्रता निभाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:George Fernandes was very attached to Jamshedpur