DA Image
21 जनवरी, 2020|3:21|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारसुगोड़ा में छापेमारी, करण, उसकी मां शीतल सहित चार गिरफ्तार

जेम्को की नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में पुलिस की टीम ने शनिवार को झारसुगोड़ा में छापेमारी की। इस दौरान पुलिस ने आरोपी करण और उसकी मां शीतल सहित चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। दो आरोपी करण के दोस्त हैं। रायपुर में करण के हाथों ही पड़ोसी रवि और प्रतिमा ने नाबालिग को बेचा था।

करण ही कार से नाबालिग को एक होटल में लेकर गया था, जहां उसके साथ प्रतिमा भी थी। उस दिन एक होटल में नाबालिग के साथ आठ लोगों ने दुष्कर्म किया था और होटल से करण उसे अपने झारसुगोड़ा स्थित घर ले गया था। पीड़िता के बयान के अनुसार, करण की मां शीतल ने झारसुगोड़ा में उसके साथ गलत काम कराया। इधर, पुलिस टीम ने करण की मां शीतल को लेकर उस जगह पर ले जाने की कोशिश की जहां बच्ची के साथ दुष्कर्म किया गया। लेकिन उस महिला और करण को इसके बारे में पता नहीं। बताया जा रहा है कि वह कोई पुलिस शिविर था, जहां नाबालिग को ले जाया गया था और दो तीन दिनों तक वहां रखा गया था। उस शिविर के बारे में भी पुलिस जांच कर रही है।

शीतल ने कहा- दो पुलिसवाले जबरन ले गए थे नाबालिग को

शीतल से पूछताछ में पता चला कि उसके यहां दो पुलिसवालों का पहले से ही आना-जाना था और उनलोगों ने ही उस नाबालिग को अपने साथ ले जाने के लिए उसपर दबाव बनाया था। झारसुगोड़ा बजार के पास ही नाबालिग को उन दोनों पुलिस के हवाले किया गया था, जिसे उनलोगों ने दो दिन के बाद करण को फोन कर दोबारा बाजार के पास बुलाया और उसे सौंप दिया। करण और शीतल के साथ जो दो अन्य लोग पकड़े गए हैं वे दोनों करण के दोस्त हैं, जो उस दिन होटल में दुष्कर्म की घटना में शामिल थे। पुलिस पहले ही पीड़िता की बहन उसके बहनोई, प्रतिमा और रवि को गिरफ्तार कर चुकी है और अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। शुक्रवार रात 12 बजे जमशेदपुर से पुलिस की एक टीम झारसुगोड़ा रवाना हुई थी।

दूसरी ओर, पुलिस की एक टीम प्रतिमा और रवि को साथ लेकर राउरकेला जाएगी, जहां उस अंकल को भी पकड़ेगी, जिसके पास नाबालिग को दो बार रवि और प्रतिमा दोनों लेकर गए थे।

पीड़िता की चिकित्सा जांच, दुष्कर्म की पुष्टि

इधर, शनिवार को पीड़िता को मेडिकल के लिए सदर अस्पताल ले जाया गया। वहां उसकी जांच की गई। जांच में उसके साथ दुष्कर्म की बात सामने आई। पीड़िता की सुरक्षा में एक महिला पुलिस को तैनात किया गया है, ताकि उसे भय का सामना न करना पड़े।

यह है मामला

जेम्को की एक नाबालिग के साथ पहले उसके जीजा ने नौ साल की उम्र में दुष्कर्म किया। उसके बाद उसे देह व्यापार करने वालों के हाथों बेच दिया। उस नाबालिग को झारसुगोड़ा और रायपुर ले जाया गया, जहां उससे दुष्कर्म हुआ। चार पुलिसवालों ने भी उससे गलत किया। 7 मई को वह जुगसलाई के एक होटल में मिली, जहां से उसे बागबेड़ा पुलिस के हवाले किया गया। पुलिस ने उसे चाइल्ड लाइन में भेजा, जहां उसने अपने साथ हुई घटना के बारे में चाइल्ड लाइन की प्रमुख पुष्पा तिर्की को बताया। इसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Four arrested in Jharsuguda raid Karan including his mother Sheetal