Five cases filed against Tata Steel worker in dowry harassment case - दहेज उत्पीड़न मामले में टाटा स्टीलकर्मी समेत पांच लोगों पर केस दर्ज DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहेज उत्पीड़न मामले में टाटा स्टीलकर्मी समेत पांच लोगों पर केस दर्ज

नोवामुंडी महिला थाने में स्नेहलता महाकुड़ की शिकायत पर दहेज उत्पीड़न के आरोप में टाटा स्टीलकर्मी पति समेत कुल पांच लोगों पर केस दर्ज कर ली गई है। इसमें टाटा स्टील टॉप कैंप निवासी पति सुधीर नारायण बेहरा,ससुर दुहान बेहरा,सास द्रौपदी बेहरा,ननद गीता बेहरा,देवर रोणी बेहरा शामिल हैं।

घटना के संदर्भ में स्नेहलता महाकुड़ ने बताया कि उसका ससुराल नोवामुंडी थाना क्षेत्र के कोटगढ़ गांव है और फिलहाल वे टाटा स्टील टॉप कैंप क्वाटर में रहती हैं। गत 24 जून 2016 को कोटगढ़ के दुहान बेहरा के बेटे सुधीर नारायण बेहरा के साथ रीति-रिवाज के साथ विवाह हुआ था। विवाह के कुछ दिन बाद से ही ससुराल वाले शारीरिक, मानसिक व आर्थिक रूप से प्रताड़ित करने लगे।

इस दौरान उसके ससुर दुहान बेहरा उसे हमेशा से ही गलत नजर से देखते थे और हमेशा अश्लील एवं गंदे-गंदे इशारा करते थे। इसकी शिकायत पति से करने पर घर वाले दुहान बेहरा को समझाने के बजाय उल्टे उसके साथ मिलकर गाली-गलौज कर मारपीट करते हैं। एक साल पहले उससे मारपीट कर घर से निकाला गया। इसकी जानकारी बोलानी में रह रहे पिता सुखदेव महाकुड़ को देकर नोवामुंडी बुलाया गया। सुखदेव महाकुड़ नोवामुंडी टिस्को कैंप क्वाटर पहुंचकर उनके परिजनों को समझाने का प्रयास के बाद भी उनके परिजनों को कोई फर्क नहीं पड़ा। कुछ दिन बाद अपनाने से इंकार के बाद घर से निकाल दिया गया। मामले को लेकर 25 मई 2017 को महिला थाने में शिकायत की गई थी। लड़के पक्ष वाले ने अपनी गलती मानकर 24 जून 2017 को समझौता कर लिया था। महिला ने बताया कि इसके बाद भी ससुराल वालों के व्यवहार में कोई बदलाव नहीं आया। इसके बाद पति सुधीर नारायण बेहरा ने 7 फरवरी 2018 को उसे चाकू से वार कर जख्मी किया था। उन्होंने आशंका व्यक्त की है कि उसके ससुरालवाले उसकी हत्या कर उसके पति की दूसरी शादी करना चाहते हैं। नोवामुंडी महिला थाने में दहेज उत्पीड़न के विभिन्न धारा के तहत पांच लोगों पर केस दर्ज किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Five cases filed against Tata Steel worker in dowry harassment case