DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › जमशेदपुर › पटमदा के सब्जी विक्रेता से थाना प्रभारी का बॉडीगार्ड बनकर की ठगी
जमशेदपुर

पटमदा के सब्जी विक्रेता से थाना प्रभारी का बॉडीगार्ड बनकर की ठगी

हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरPublished By: Newswrap
Sat, 21 Dec 2019 04:37 PM
पटमदा के सब्जी विक्रेता से थाना प्रभारी का बॉडीगार्ड बनकर की ठगी

उलीडीह थाना क्षेत्र के मानगो नया सब्जी बाजार के निकट थाना प्रभारी का बॉडीगार्ड बनकर एक किसान से उसकी बाइक, रुपये व अन्य सामान को ठग लिया गया। इस संबंध में उलीडीह थाने में पटमदा के भेलागोड़ा टोला, पोकलाबेड़ा ग्राम निवासी विभूति टुडू के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। घटना सात दिसंबर 2019 की है और प्राथमिकी 19 दिसंबर को दर्ज की गई। विभूति टुडू के अनुसार सात दिसंबर को वे पटमदा से जमशेदपुर के साकची बाजार में सब्जी बेचने आये थे। सब्जी बेचकर वह पटमदा लौट रहे थे कि मानगो नया सब्जी बाजार के निकट एक आदमी ने उन्हें जबरन रोका। उसने कहा कि वह बड़ा बाबू का बॉडीगार्ड है। उसे सूचना मिली है कि उसकी गाड़ी में गांजा है। उसे थाना प्रभारी ने बुलाया है। उसके बाद उसने साकची थाना ले जाने के लिए वापस साकची की तरफ चलने के लिए कहा। उसे वह पुराना कोर्ट की तरफ ले गया। उस ठग ने कहा कि उसे विश्वास नहीं हो रहा है कि वह कौन है। इसके बाद उसने उसके रिश्तेदार का फोन लिया। उसे कॉल कर बताया कि विभूति गांजा बेचता है, इसलिए उन लोगों ने उसे पकड़ा है। उसने अपना नाम राकेश पांडेय बताया। फोन पर उसने बताया कि वह विभूति को जांच के लिए साकची थाना ले जा रहा है। इसके बाद रास्ते में उसने विभूति से उसकी बाइक ले ली। उसे मारपीटकर उससे दो हजार रुपये ले लिये और वहां से चुपचाप घर जाने को कहा। इधर, विभूति ने अपने परिवार के अन्य सदस्यों के साथ साकची थाना जाकर अपनी गाड़ी के बारे में पता किया तो मालूम चला कि कोई भी व्यक्ति थाना प्रभारी का अंगरक्षक या अन्य पुलिस वालों द्वारा गाड़ी जब्त नहीं की गई है। यही बात उलीडीह पुलिस ने भी बतायी। उसके बाद विभूति के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

संबंधित खबरें