DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमशेदपुर को-ऑपरेटिव कॉलेज में मैथ पीजी की पढ़ाई का सपना हुआ चकनाचूर

जमशेदपुर को-ऑपरेटिव कॉलेज में मैथ पीजी की पढ़ाई का सपना हुआ चकनाचूर

कोल्हान विश्वविद्यालय (केयू) की असमर्थता के कारण को-ऑपरेटिव कॉलेज में गणित में पीजी की पढ़ाई शुरू होने का विद्यार्थियों का सपना चकनाचूर हो गया है। केयू की इस उदासीनता से विद्यार्थियों में निराशा है। को-ऑपरेटिव कॉलेज के विद्यार्थियों और छात्र संगठनों द्वारा दो वर्ष से गणित में पीजी की पढ़ाई शुरू करने की मांग की जा रही थी। इसके लिए विद्यार्थियों द्वारा कॉलेज में कई बार धरना-प्रदर्शन किया गया। वहीं, दर्जनों बार कुलपति और प्राचार्य को ज्ञापन सौंपा गया। विद्यार्थियों की मांग के मद्देनजर तीन विषयों गणित, भूगोल और सोशियोलॉजी में पीजी की पढ़ाई शुरू करने के लिए कॉलेज की ओर से केयू को स्थायी शिक्षकों की नियुक्ति का प्रस्ताव सौंपा गया था, पर 22 अगस्त को केयू में हुई एकेडमिक काउंसिल की बैठक में केयू ने को-ऑपरेटिव कॉलेज के प्रस्ताव पर विचार करते हुए स्थायी शिक्षक नियुक्ति में असमर्थता जताई। बिना स्थायी शिक्षक नहीं शुरू हो सकती है पढ़ाई: यूजीसी के नियमानुसार, किसी भी कॉलेज में पीजी की पढ़ाई शुरू करने के लिए स्थायी शिक्षक का होना अनिवार्य है। भूगोल और सोशियोलॉजी की पीजी की पढ़ाई भी स्थायी शिक्षकों के अभाव में लटक गई है। हालांकि मानगो स्थित वर्कर्स कॉलेज में भूगोल में पीजी का कोर्स संचालित हो रहा है, पर यहां पर भी स्थायी शिक्षकों के अभाव में जैसे-तैसे अस्थायी शिक्षकों द्वारा पढ़ाई कराई जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dream shatter to read pg maths in Jamshedpur Co-operative College