DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गलत निर्देशों के कारण मत भूलें अपनी क्षमताएं : शरत चंद्रन

जिस तरह मुर्गियों के बीच के बीच रहकर एक गिद्ध का बच्चा अपनी उड़ान भूल बैठा था, उसकी तरह हम भी गलत निर्देशों के कारण कई बार अपनी क्षमताओं को भूल बैठते हैं। पर ऐसा नहीं होना चाहिए। उक्त बातें शहर के प्रसिद्ध कहानीकार सह केपीएस स्कूल के निदेशक शरत चंद्रन ने डीएवी बिष्टूपुर में कहीं। वे यहां स्कूल की ओर से आयोजित साहित्य समारोह 'अरोरा-2018' के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने अपनी कहानियां 'द ईगल' व 'स्टोन मेकर' के माध्यम से विद्यार्थियों को प्रेरित किया। इससे पूर्व राजेंद्र विद्यालय की शिक्षिका सह समाजसेवी सुमिता नुपुर ने कार्यक्रम का बतौर मुख्य अतिथि उद्घाटन किया। समारोह में शहर के 12 स्कूलों से कुल 167 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। जज की भूमिका शिक्षिका सुमन्ना ब्रह्मा व हिमानी शाह ने निभाईं। मौके पर वाद-विवाद, कहानी वाचन, श्रुतलेख, क्विज, ट्रेजर हंट आदि प्रतियोगिताएं आयोजित हुईं। विजेताओं को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के आयोजन में स्कूल प्राचार्या प्रज्ञा सिंह, अंग्रेजी विभागाध्यक्ष डॉ. प्रतिभा सिंह, दीपशिक्षा पूर्ती, सुजाता मुखर्जी, नेहा यादव, एम सुनीता, सास्वती चक्रवर्ती, विनीता राणा, तमन्ना श्रीवास्तव आदि ने अहम भूमिका निभाई। अंतत: माउंट लिटेरा स्कूल की टीम एसोनेंस को विजेता व डीबीएमएस स्कूल की टीम एलेगोरी का उपविजेता घोषित किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Do not forget your capabilities due to wrong instructions