DA Image
26 नवंबर, 2020|1:11|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन से वातावरण स्वच्छ, प्रदूषण भी कम

लॉकडाउन से वातावरण स्वच्छ, प्रदूषण भी कम

जमशेदपुर में खतरनाक रूप ले चुके वायु प्रदूषण का स्तर लॉकडाउन के बाद काफी गिर गया है। सामान्य दिनों में क्वालिटी इंडेक्स 50 प्रतिशत से भी कम हो गया है। वायु प्रदूषण में और कमी आने की संभावना है। लॉकडाउन की वजह से कोरोना वायरस का फैलाव रोकने के साथ प्रदूषण के मोर्चे पर भी सफलता मिल रही है। सड़कों पर वाहन नहीं चलने, फैक्ट्रियों के बंद होने और निर्माण कार्यों का रुकना इसकी बड़ी वजह हैं। झारखंड राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (जेएसपीसीबी) के आंकड़े के अनुसार, गोलमुरी, बिष्टूपुर और आदित्यपुर इलाके में राष्ट्रीय मानकों का जहां उल्लंघन हो रहा था। गोलमुरी में 184.45 माइक्रोग्राम/क्यूबिक मीटर की जगह 90 माइक्रोग्राम क्यूबिक मीटर और बिष्टूपुर में 124.29 माइक्रोग्राम/क्यूबिक मीटर की जगह 70 माइक्रोग्राम/क्यूबिक मीटर तक प्रदूषण का स्तर गिरा है। दोनों आंकड़े राष्ट्रीय मानक 100 माइक्रोग्राम/क्यूबिक मीटर से कम हैं। शहर में फैक्ट्रियों के बंद होने और डीजल वाहनों की रफ्तार पर ब्रेक लगने के बाद वायु प्रदूषण में तेजी से गिरावट आई है। शहर में जहां हर दिन पांच लाख वाहन रोज दौड़ते थे, वहीं अब 25 हजार भी बमुश्किल से चल रहे हैं, वह भी जरूरी सेवाओं से जुड़े वाहन ही सड़क पर नजर आ रहे हैं। झारखंड राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय पदाधिकारी सुरेश पासवान का कहना है कि प्रदूषण दर राष्ट्रीय मानक से भी कम हो गया है। 14 अप्रैल तक लॉकडाउन होने के कारण आने वाले दिनों में प्रदूषण दर और भी कम हो जाएगा। उनका मानना है कि इतिहास में पहली बार प्रदूषण दर इतना कम हुआ है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Clean environment due to lockdown pollution also reduced