DA Image
5 मार्च, 2021|12:33|IST

अगली स्टोरी

देश की 10 प्रतिशत आबादी में एंटी बॉडी विकसित

default image

जमशेदपुर वरीय संवाददाता

वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) को सर्वे में पता चला है कि देश की 10 प्रतिशत आबादी में एंटीबॉडी विकसित हो गई है। ये वैसे लोग हैं, जिनमें कोरोना का लक्षण नहीं था लेकिन वे संक्रमित थे। इनमें अधिकांश पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करते थे। यह जानकारी सीएसआईआर के महानिदेशक डॉ. शेखर सी मांडे ने मंगलवार को एनएमएल निदेशक कक्ष में संवाददाताओं को दी। वे यहां एनएमएल के एक कार्यक्रम में शामिल होने आए थे।

उन्होंने बताया कि सर्वे सीएसआईआर से जुड़ी 37 इकाइयों ने किया था, जिसमें हर वर्ग के लोगों की जांच हुई थी। इसके अलावा सीएसआईआर ने लगभग 3500 वायरस की सिक्वेंसिंग की है, जिसमें यूके के वायरस भी मिले। इसके मिलने के बाद तत्काल ही जानकारी नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल को दी गई। सीसीएमबी हैदाराबाद और आईजीएपी दिल्ली में हुई जांच में पॉजिटिव भी मिले। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए कुष्ठ रोग की वैक्सीन सिप्सीबैग का इस्तेमाल दवा कंपनी कैडिला के साथ मिलकर होगा। फेज टू ट्रायल में यह कारगर रहा है, जिसके बाद ड्रग कंट्रोल ने हमें फेज थ्री करने की अनुमति दे दी है।

पांच घंटे में तैयार होगा अस्पताल

डॉ. शेखर सी. मांडे के अनुसार, देश में कहीं भी हम पांच दिन में अस्पताल तैयार करने की स्थिति में हैं, जिसमें तमाम वैसी अत्याधुनिक सुविधाएं होंगी, जो किसी भी बड़े अस्पताल में होती हैं। इसमें 50 से लेकर 100 बेड हो सकते हैं। मेडिकल डिवाइसेज में वेंटिलेटर बनाया गया, जिसे स्वस्थ वायु कहते हैं। इसमें नली अंदर जाने की जरूरत नहीं है। सिर्फ मास्क लगाया जाएगा। दिल्ली सरकार ने 12 सौ वेंटिलेटर का ऑर्डर दिया था, जिसे हमने पूरा कर सौंपा। हमारी प्रयोगशाला ने ही क्रिस्पर कैश सिस्टम का प्रयोग कर पेपर-बेस्ड टेस्ट तैयार किया जिसपर टाटा मेडिकल एंड डायग्नोस्टिक्स लिमिटेड ने लांच किया और इससे दो से डेढ़ घंटे में कोविड टेस्ट मुमकिन हो पाया।

किसान एप का लाभ

किसानों के लिए किसान सभा नामक एप तैयार किया गया है, जिसका लगभग 70 हजार किसान लाभ उठा रहे हैं। इसे 12 अलग-अलग भाषाओं में तैयार किया था। इसमें ट्रक और किसानों से सीधा सम्पर्क रहेगा। बिचौलिए की जरूरत नहीं पड़ेगी। यह एप ओडिशा में काफी प्रचलित है।

एसी के जरिए रुकेगा कोरोना संक्रमण

देश में ऐसी तकनीक इजाद की गई है, जिसमें एसी कोरोना संक्रमण के विस्तार को रोकगा। यह तकनीक मॉल, हॉल, सिनेमाघर और दूसरी एसी में लगेगा और उसमें कम खर्च भी आएगा। क्योंकि एसी में कोरोना वायरस के विस्तार की अधिक संभावना रहती है। ईएसएल नामक कंपनी के साथ इसपर करार हुआ है, जिसके माध्यम से यह आमलोगों तक पहुंचेगा। उन्होंने कहा कि एनएमएल बेहतर काम कर रहा है। लेकिन, उनका सपना है कि जमशेदपुर एनएमएल स्टील और धातु क्षेत्र में देश का नेतृत्व करे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Anti body developed in 10 percent population of the country