ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड जमशेदपुरकोल्हान विवि के वोकेशनल शिक्षकों के वेतन भुगतान के लिए 16 करोड़ का बजट पास

कोल्हान विवि के वोकेशनल शिक्षकों के वेतन भुगतान के लिए 16 करोड़ का बजट पास

कोल्हान विश्वविद्यालय में गुरुवार को वोकेशनल सेल की बैठक हुई। इसमें वोकेशनल कोर्स मे कार्यरत टीचिंग एवं नन टीचिंग कर्मियों के जनवरी से अप्रैल तक के...

कोल्हान विवि के वोकेशनल शिक्षकों के वेतन भुगतान के लिए 16 करोड़ का बजट पास
default image
हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरFri, 21 Jun 2024 06:00 PM
ऐप पर पढ़ें

कोल्हान विश्वविद्यालय में गुरुवार को वोकेशनल सेल की बैठक हुई। इसमें वोकेशनल कोर्स मे कार्यरत टीचिंग एवं नन टीचिंग कर्मियों के जनवरी से अप्रैल तक के बकाया वेतन के भुगतान के लिए 16 करोड़ का बजट पास किया गया।
पिछले दिनों बजट अनुमोदन के लिए राजभवन से विश्वविद्यालय को हरी झंडी दे दी गई थी। इसके बाद कॉलेजों के वोकेशनल शिक्षकों को कॉलेज के अकाउंट ए-1 से मानदेय का भुगतान के लिए विश्वविद्यालय की अनुमति लेने के निर्देश दिए गए थे। विवि से बजट पास होने के बाद अब सभी कॉलेजों को वोकेशनल कोर्स के शिक्षकों के खाते में वेतन भेजने की कवायद पूरी करनी होगी। दो दिनों के भीतर शिक्षकों के खाते में वेतन भेज दिए जाएंगे।

विश्वविद्यालय मुख्यालय में वोकेशनल सेल की बैठक प्रभारी कुलपति सह कोल्हान आयुक्त हरि कुमार केशरी की अध्यक्षता में हुई। बैठक में राजभवन से प्राप्त वेतन भुगतान की अनुमति पर चर्चा हुई। वाकेशनल सेल के विभिन्न कोर्स में कार्यरत टीचिंग एवं नन टीचिंग कर्मियों को जनवरी से वेतन नहीं मिला था। राजभवन की स्वीकृति के अनुरूप जनवरी से अप्रैल तक के बकाये वेतन भुगतान के लिए बजट को स्वीकृति प्रदान की गई। बैठक में वर्ष 2022-23 व 2023- 24 के बजट को अनुमोदित कर संबंधित कर्मियों के वेतन भुगतान पर मुहर लगाई गई। गौरतलब है कि केयू के अंतर्गत संचालित 9 अंगीभूत कॉलेजों द्वारा वोकेशनल कोर्स का संचालन किया जाता है। इसमें सभी कॉलेज से प्राप्त वेतन भुगतान के बजट का अनुमोदन किया गया। इनमें चार ऐसे कॉलेज हैं, जिनमें वोकेशनल कोर्स के अंतर्गत सेल्फ फाइनांस बीएड कोर्स की पढ़ाई होती है। इनमें बहरागोड़ा, को-ऑपरेटिव कॉलेज, महिला कॉलेज व ग्रेजुएट स्कूल कॉलेज फॉर वीमेन शामिल हैं। अन्य जिन कॉलेजों के लिए बजट पास किया गया, उनमें एलबीएसएम कॉलेज, टाटा कॉलेज, जेएलएन कॉलेज, वर्कर्स कॉलेज, केएस कॉलेज शामिल हैं। इससे 150 शिक्षकों को लाभ मिलेगा।

145 शिक्षकों को अब भी नहीं मिला मानदेय

एक तरफ जहां वोकेशनल कोर्स के शिक्षकों को वेतन देने की सहमति प्रदान कर दी गई, वहीं कोल्हान विश्वविद्यालय के ही संविदा आधारित सहायक प्राध्यापकों को फरवरी से अबतक मानदेय नहीं मिल पाया है। संविदा शिक्षकों ने प्रभारी कुलपति हरि कुमार केशरी से मानदेय भुगतान की मांग की। वीसी ने शिक्षकों को आश्वासन दिया कि उन्होंने मानदेय भुगतान से संबंधित प्रस्ताव राजभवन को भेज दिया है। जैसे ही राजभवन से इससे संबंधित सहमति मिल जाती है, वैसे ही मानदेय भुगतान कर दिया जाएगा। मानदेय न मिलने से विवि के करीब 145 संविदा आधारित सहायक प्राध्यापक आर्थिक रूप से चुनौतियों का सामना कर रहे हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।