DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  जमशेदपुर  ›  कोविड काल में प्रभावित 17 अनाथ बच्चे मिले, मदद की प्रक्रिया शुरू

जमशेदपुरकोविड काल में प्रभावित 17 अनाथ बच्चे मिले, मदद की प्रक्रिया शुरू

हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:40 PM
कोविड काल में प्रभावित 17 अनाथ बच्चे मिले, मदद की प्रक्रिया शुरू

कोविड काल में प्रभावित पूर्वी सिंहभूम जिले के ग्रामीण और शहरी इलाके में मिलाकर 17 ऐसे बच्चों का चयन किया गया है जिन्हें विशेष स्पॉन्सरशिप प्रोग्राम के तहत मदद की जाएगी। इसमें दो बच्चे ऐसे हैं जिनके माता-पिता दोनों नहीं हैं। जबकि आठ ऐसे हें जिनकी पिता की कोरोना से मौत हुई है। इनके अलावा दूसरे बच्चों का भी चयन स्पॉन्सरशिप प्रोग्राम के तहत किया गया है।

इन बच्चों के संदर्भ में विस्तृत जानकारी सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के द्वारा तैयार की जा रही है।

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में वे बच्चे भी शामिल हैं, जिन्होंने अपने माता-पिता को खो दिया। कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने भी राज्यों को निर्देश जारी किया है। सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना में अनाथ हुए बच्चों की जरूरतों की देखभाल राज्य सरकारें करें। कोर्ट ने राज्यों को निर्देश दिया था कि वह ऐसे बच्चों की शिनाख्त करें, जिन्होंने देशव्यापी लॉकडाउन लगने के बाद या तो अपने माता-पिता या फिर कमाने वाले परिजन को खो दिया है। उसके आधार पर ही बच्चों को खोजा गया है।

यह प्रमाण पत्र आवश्यक है:

इस तरह के अनाथ बच्चों के लिए माता पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र या किसी एक का मृत्यु प्रमाण पत्र। बच्चों का आधार कार्ड इन्हें जो पालने वाले हैं उनका आधार कार्ड। दोनों का बैंक का जॉइंट खाता। 75000 से नीचे का आय प्रमाण पत्र या फिर लाल राशन कार्ड।

बाल कल्याण समितिकी चेयरपर्सन पुष्पा तिर्की कहती हैं कि पूर्वी सिंहभूम जिले में अभी तक 17 बच्चे मिले हैं। इन्हें स्पॉन्सरशिप कार्यक्रम के तहत मदद पहुंचाने की तैयारी की जा रही है और साथ ही अनाथ बच्चों के लिए जो प्रक्रिया अपनाई जानी है वह भी पूरा किया जाएगा।

जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी चंचल कुमारी कहती हैं कि इसके लिए सभी प्रखंड को कहा गया है कि अपने स्तर पर कोरोना से प्रभावित लोग जो मृत्यु के शिकार हुए हैं उनके अनाथ बच्चों का पता लगाकर रिपोर्ट करें। उन्हें मदद करने के लिए ही सूची तैयार की जा रही है।

संबंधित खबरें