ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड जमशेदपुरसीसीडीएसआई के अधिवेशन में 150 विशेषज्ञ चिकित्सक होंगे शामिल

सीसीडीएसआई के अधिवेशन में 150 विशेषज्ञ चिकित्सक होंगे शामिल

क्लीनिकल कार्डियो डायबिटीज सोसाइटी ऑफ इंडिया (सीसीडीएसआई) की ओर से जमशेदपुर में 21 से 23 जून तक बिहार एवं झारखंड का आठवां वार्षिक अधिवेशन का आयोजन...

सीसीडीएसआई के अधिवेशन में 150 विशेषज्ञ चिकित्सक होंगे शामिल
default image
हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरThu, 20 Jun 2024 05:45 PM
ऐप पर पढ़ें

क्लीनिकल कार्डियो डायबिटीज सोसाइटी ऑफ इंडिया (सीसीडीएसआई) की ओर से जमशेदपुर में 21 से 23 जून तक बिहार एवं झारखंड का आठवां वार्षिक अधिवेशन का आयोजन किया जाएगा। यह जानकारी आयोजन अध्यक्ष डॉ. उमेश खान ने संवाददाता सम्मेलन में दी। उनके साथ डॉ. सतीश प्रसाद, डॉ. एके विरमानी, डॉ. एके पॉल भी उपस्थित थे। अधिवेशन में देश के विभिन्न प्रांतों से विशेषज्ञ चिकित्सक हिस्सा ले रहे हैं, जिनकी संख्या 150 के करीब है। डॉ. सुजय मजूमदार कोलकाता से, डॉ. सुरेश पुरोहित मुंबई से, डॉ. मधुकर राय वाराणसी से, डॉ. नरसिंह वर्मा लखनऊ से, डॉ. अभिषेक कुमार पटना से और डॉ. केएन पदिहारी भुवनेश्वर से पहुंचेंगे। इस दौरान विचारों और अनुभवों का आदान-प्रदान होगा और शोध की प्रस्तुति होगी। संस्था के संस्थापक डॉक्टर एएन राय मुख्य अतिथि होंगे। स्नातकोत्तर विद्यार्थी भी इसमें हिस्सा ले रहे हैं, जिन्हें काफी कुछ सीखने को मिलेगा।

मौके पर आयोजनकर्ता ने बताया कि 32 फीसदी मधुमेह के मरीजों को हृदय संबंधी बीमारी होती है। वहीं, कई लोगों की जान भी वली जाती है। अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन की एक रिपोर्ट में मधुमेह के कारण हार्ट फेलियर के केस बढ़े हैं। मधुमेह रोगियों में इसका प्रसार 22 फीसदी तक है और इसका दर प्रति वर्ष बढ़ रहा है। सामान्य लोगों की तुलना में मधुमेह रोगियों में हृदय संबंधी बीमारी चार गुना तक बढ़ जाती है। हार्ट ब्लॉक की संभावना भी बढ़ जाती है। मधुमेह को नियंत्रित रखना अत्यंत आवश्यक हैं। अधिवेशन में इससे बचाव के तरीकों पर चर्चा की जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।