एमसीसी चाईबासा के लिए खेलते हैं कुमार सूरज

एमर्जिंग एशिया कप के लिए भारतीय टीम में शामिल कए गए बल्लेबाज कुमार सूरज झारखंड क्रिकेट में पश्चिमी सिंहभूम जिला का प्रतिनिधित्व करते हैं। वे पश्चिमी सिंहभूम जिला क्रिकेट लीग में एमसीसी की ओर से खेलते हैं। अंडर-19 विश्वकप में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करनेवाले हरफमनौला खिलाड़ी अनुकूल राय भी इसी क्लब का प्रोडक्ट हैं।

कुमार सूरज के भारतीय टीम में चयन पर पश्मिची सिंहभूम जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष नंदलाल रुंगटा एवं महासचिव असीम कुमार सिंह ने खुशी जाहिर की है। दोनों पदाधिकारियों का यही कहना है कि अब केवल चयन से काम नहीं चलनेवाला है, बल्कि सूरज को खेलने का भी मौका मिलना चाहिए।

पिछले सीजन में कुमार सूरज ने बीसीसीआई की ओर से आयोजित अंडर-23 कर्नल सीके नायडू ट्रॉफी में 381 और अंडर-23 वनडे क्रिकेट टूर्नामेंट में 485 रन बनाए थे।

खुश है कुमार सूरज का परिवार

कुमार सूरज के पिता सह कदमा निवासी सत्येंद्र प्रसाद आयकर विभाग जमशेदपुर में निरीक्षक के पद पर कार्यरत हैं। मां रेखा प्रसाद गृहिणी हैं, जबकि भाई कुमार आदित्य खिलाड़ी सह छात्र है। कुमार सूरज का दूसरी बार भारतीय टीम में चयन होने से समूचा परिवार खुश है। सबों का यही कहना है कि यदि सूरज को एशिया कप में खेलने का मौका मिलता है, तो वे खुद को जरूर साबित करेंगे।

राजीव नायर और वेंकट राम रहे हैं सूरज के गुरू

कुमार सूरज के मुख्यत: दो क्रिकेट गुरू रहे हैं। इनका नाम है राजीव नायर और वी वेंकट राम। राजीव नायर एलआइसी मैदान कदमा में स्कूल ऑफ क्रिकेट के नाम से सेंटर चलाते हैं, जहां सूरज ने क्रिकेट के आरंभिक गुर सीखे।

इसके बाद सूरज संयुक्त बिहार के पूर्व कप्तान सह कोच वी वेंकट राम की शरण में गए, जहां उन्हें आधुनिक क्रिकेट के बारे में काफी कुछ सीखने को मिला। वेंकट राम सोनारी स्थित निर्मल महतो मैदान में संचालित झारखंड क्रिकेट एकेडमी के कोच हैं, जो वर्तमान में नेपाल की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम को कोचिंग दे रहे हैं।

READ SOURCE