अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टाटीझरिया में बिजली कर्मियों को ग्रामीणों ने चार घंटे बंधक बनाया

टाटीझरिया में बिजली कर्मियों को ग्रामीणों ने चार घंटे बंधक बनाया

टाटीझरिया में बदतर विद्युत आपूर्ति को लेकर उपभोक्ताओं में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। उनका कहना है कि बिजली न मिलने पर बिल का भुगतान भी नहीं किया जाएगा। गुरुवार को बिल लेने आये विभाग के कर्मचारी अमर कुमार और सतीश कुमार को ग्रामीणों का विरोध का सामना करना पडा। उन्हें ग्रामीणों ने चार घंटे तक बंधक भी बनाए रखा। फिर विभाग के अधिकारियों एवं टाटीझरिया थाना के एएसआई जेठा हेंब्रम के अश्वासन के बाद उन्हें छोड दिया गया। उपभोक्ताओं का कहना था कि बिजली नहीं तो बिल नहीं। टाटीझरिया के साथ बिजली विभाग द्वारा हमेशा उपेक्षित किया जाता रहा है। पिछले तीन दिनों में टाटीझरिया को मात्र तीन घंटे ही बिजली की आपूर्ति की गई है वो भी लगातार नहीं। कभी डीवीसी के लोडशेडिंग तो कभी मेंटेनेंस के नाम पर बिजली काट दिया जाता है। न तो विभाग के जीएम, न तो एसडीओ, जेई या अन्य अधिकारी टाटीझरिया के ग्रामीणों की बात नहीं सुनते हैं। ग्रामीणों का कहना है एक महीने का बिल भी बहुत ज्यादा आया है। विरोध करने वालों में प्रमुख प्रतिनिधि सुरेश यादव, बीस सूत्री अध्यक्ष मिथिलेश पाठक, भाजपा प्रखंड अध्यक्ष कैलाशपति सिंह, पिंटु साव, अरविंद चौधरी, रंजीत तिवारी, अजय सिंह, जीतन यादव, रोहित कुमार, बबलू यादव, सीता देवी, मो मिराज, इस्माइल अंसारी, सुरजमुनी देवी, आकाश कुमार, पिंटु यादव, सुनील साव, मो अयाज, अंशराज, ललिता देवी समेत सैकड़ों लोग मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Villagers made mortgages for four hours in Tatzeria