ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड हज़ारीब़ागकुम्हारटोली में इस बार अजंता शैली में रहेंगी मां की प्रतिमाएं

कुम्हारटोली में इस बार अजंता शैली में रहेंगी मां की प्रतिमाएं

कुम्हारटोली संकट मोचन हनुमान मंदिर में इस बार दुर्गा पूजा की तैयारी धूमधाम से की जा रही है। अजंता शैली में यहां प्रतिमाओं को तैयार किया जा रहा है।...

कुम्हारटोली में इस बार अजंता शैली में रहेंगी मां की प्रतिमाएं
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,हजारीबागWed, 28 Sep 2022 03:10 AM
ऐप पर पढ़ें

हजारीबाग वरीय संवाददाता

कुम्हारटोली संकट मोचन हनुमान मंदिर में इस बार दुर्गा पूजा की तैयारी धूमधाम से की जा रही है। अजंता शैली में यहां प्रतिमाओं को तैयार किया जा रहा है। यहां की प्रतिमाएं इस बार खास होंगी। पूजा में पारंपरिक तौर तरीके अपनाए जाते हैं। कमेटी से जुड़े अनिल सिन्हा और सुरेश सहाय बताते हैं कि इस बार अजंता शैली में प्रतिमा अंजता आर्ट के मूर्तिकार अनिल कुमार प्रजापति और सुनील प्रजापति कर रहे हैं। वह कहते हैं कि वैसे तो हर प्रतिमा भाव भंगिमा से जुड़ी होती है। कलाकार प्रतिमाओं को गढ़ता है पर प्राण प्रतिष्ठा होने के बाद मूर्ति विशेष हो जाती है। हमलोगों की कमेटी इस बार मूर्ति में अंजता शैली को प्रमुखता दे रही है। कलाकार दिन रात मूर्ति को प्रतिमा को गढ़ने में जुटे हैं। वैसे तैयारी अब पूरी भी हो चुकी है। साज सजावट बाकी है। साज सजावट के बाद इसका विशिष्ट रूप सामने आएगा। इस बार दुर्गा पूजा कमेटी के अध्यक्ष बालदेव प्रजापति है। वहीं सचिव मनोज गुप्ता है। यहां अष्टमी को भतुआ की बलि दी जाती है। नवमी को बुंदिया पूड़ी भोग के वितरण किया जाता है। दशमी को 500 हांडी खिचड़ी का भोग कार्यकर्ताओं और सदस्यों के बीच बांटा जाता है, वहीं आधा दर्जन से अधिक डेग खिचड़ी श्रद्धालुओं में वितरित की जाती है।

खासियत

पारपंरिक तरीके से होती है पूजा। महिलाओं की अपार भीड़ जुटती है।

यहां पंडाल नहीं बनता, लोहे के शेड के नीचे होती है पूजा।

फैक्ट फाइल

25 फीट ऊंचा और 4000 वर्ग फीट बनाया गया है शेड, कई कार्यक्रम इसके नीचे ही होते हैं।

2007 से कुम्हारटोली दुर्गा पूजा समिति संकट मोचन हनुमान मंदिर में पूजा करा रही है।

1933 में स्थापित है कुम्हारटोली संकट मोचन मंदिर

कोट:

यहां पारंपरिक तरीके से पूजा होती है। हर बार यहां पर पूजा करने के लिए महिलाओं की भारी भीड़ जुटती है। हमलोग सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए निजी गार्ड रखे हैं।

बालदेव प्रजापति, अध्यक्ष कुम्हारटोली दुर्गा पूजा समिति

----

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
epaper