The chatura of the temple became an arena for gamblers alcoholics - मंदिर का चबूतरा बना जुआरियों, शराबियों का अखाड़ा चौपारण।प्रतिनिधि। प्रखंड मुख्यालय से पांच किमी दूर इटखोरी रोड के चक्रसार, दादपुर में स्थित पौराणिक बजरंबली मंदिर और बजरंग अखाड़े के धार्मिक कार्य के लिए बने चबूतरा इन दिनों जुआरियों और शराबियों का अड्डा बन गया है। अखाड़े के सटे इंग्लिश मॉडर्न पब्लिक स्कूल तथा सामने उमवि विद्यालय, यवनपुर है। धार्मिक चबूतरे पर सुबह से देर शाम तक जुआरियों का अखाड़ा लगा रहता है और देर शाम से शराबियों का अड्डा बन जाता है। धार्मिक स्थल के कारण ग्रामीणों में असंतोष बढ़ रहा है। गांव के हीं कुछ सामाजिक व्यक्तियों ने बताया कि कई बार इसकी शिकायत स्थानीय प्रशासन को दी गई, लेकिन उचित करवाई न होने के कारण इन दिनों जुआरियों तथा शराबियों का मनोबल बढता जा रहा है। चौपारण पी 4- बजरंग अखाड़े के चबूतरे पर जुआरियों का अड्डा DA Image
9 दिसंबर, 2019|10:02|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंदिर का चबूतरा बना जुआरियों, शराबियों का अखाड़ा चौपारण।प्रतिनिधि। प्रखंड मुख्यालय से पांच किमी दूर इटखोरी रोड के चक्रसार, दादपुर में स्थित पौराणिक बजरंबली मंदिर और बजरंग अखाड़े के धार्मिक कार्य के लिए बने चबूतरा इन दिनों जुआरियों और शराबियों का अड्डा बन गया है। अखाड़े के सटे इंग्लिश मॉडर्न पब्लिक स्कूल तथा सामने उमवि विद्यालय, यवनपुर है। धार्मिक चबूतरे पर सुबह से देर शाम तक जुआरियों का अखाड़ा लगा रहता है और देर शाम से शराबियों का अड्डा बन जाता है। धार्मिक स्थल के कारण ग्रामीणों में असंतोष बढ़ रहा है। गांव के हीं कुछ सामाजिक व्यक्तियों ने बताया कि कई बार इसकी शिकायत स्थानीय प्रशासन को दी गई, लेकिन उचित करवाई न होने के कारण इन दिनों जुआरियों तथा शराबियों का मनोबल बढता जा रहा है। चौपारण पी 4- बजरंग अखाड़े के चबूतरे पर जुआरियों का अड्डा

default image

प्रखंड मुख्यालय से पांच किमी दूर इटखोरी रोड के चक्रसार, दादपुर में स्थित पौराणिक बजरंबली मंदिर और बजरंग अखाड़े के धार्मिक कार्य के लिए बने चबूतरा इन दिनों जुआरियों और शराबियों का अड्डा बन गया है। अखाड़े के सटे इंग्लिश मॉडर्न पब्लिक स्कूल तथा सामने उमवि विद्यालय, यवनपुर है। धार्मिक चबूतरे पर सुबह से देर शाम तक जुआरियों का अखाड़ा लगा रहता है और देर शाम से शराबियों का अड्डा बन जाता है। धार्मिक स्थल के कारण ग्रामीणों में असंतोष बढ़ रहा है। गांव के हीं कुछ सामाजिक व्यक्तियों ने बताया कि कई बार इसकी शिकायत स्थानीय प्रशासन को दी गई, लेकिन उचित करवाई न होने के कारण इन दिनों जुआरियों तथा शराबियों का मनोबल बढता जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The chatura of the temple became an arena for gamblers alcoholics