अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आठ किमी के दायरे में ही रहें डॉक्टर:सीएस

अति कुपोषित बच्चों को अंधेरे कमरे में बंद कर रखे जाने को लेकर डीसी व सिविल सर्जन के द्वारा एक जांच कमेटी गठन कर रिपोर्ट मांगी गई थी। सौपी गयी रिपोर्ट से असंतुष्ट होकर हजारीबाग सिविल सर्जन ललित वर्मा खुद बड़कागांव अस्पताल पहुंच कर अस्पताल का जायजा लिया। सिविल सर्जन ने बड़कागांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अव्यवस्था को देख कर प्रभारी डॉ श्याम किशोर कान्त पर फटकार लगाई। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के तमाम डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मियों के वेतन पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है। बड़कागांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इंडोर रजिस्टर का भी मेंटेनेंस नहीं किया जाता है। साथ ही साथ इमरजेंसी रजिस्टर मेंटेन नहीं किए जाने के संबंध में डेनिम बारला को फटकार लगाते हुए आगे से रजिस्टर मेंटेन करने का निर्देश दिया। वही खाने के पंजी को सिविल सर्जन ने मेश इंचार्ज अजय कुमार गुप्ता को खाने का रजिस्ट्रेशन नंबर रजिस्टर मेंटेन नहीं होने पर कड़ी फटकार लगाते हुए निर्देश दिया कि रजिस्टर मेंटेन करें। वहीं डॉ अविनाश कुमार को फटकार लगाते हुए बड़कागांव में ही रहने का आदेश दिया। हजारीबाग से आना-जाना बंद करें। आगे सिविल सर्जन ने दवाई के स्टोर रूम में जाकर रजिस्टर को देखते हुए स्टोर मैन को डांटते हुए निर्देश दिया कि सही समय पर सभी दवाइयों का उपयोग कराएं ताकि इसका लाभ बड़कागांव के तमाम ग्रामीण जनता ले सकें। वही एएनएम गीता कुमारी को सिविल सर्जन के द्वारा कुछ सवाल पूछे जाने पर सही जबाब नहीं देने पर प्रभारी श्याम किशोर कांत को कड़ी फटकार लगाई। सिविल सर्जन ने सभी डॉक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देश दिया है कि सभी बड़कागांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के 8 किलोमीटर के दायरे में ही रहेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Stay within 8km Doctor: CS