ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड हज़ारीब़ाग कृष्ण पक्ष महज 13 दिनों का होगा

कृष्ण पक्ष महज 13 दिनों का होगा

हिन्दू पंचांग के अनुसार इस वर्ष आषाढ़ महीने का कृष्ण पक्ष महज 13 दिनों का होगा। इसमें द्वितीया और चतुर्थी तिथि का क्षय हो रहा है। कृष्ण पक्ष की...

 कृष्ण पक्ष महज 13 दिनों का होगा
हिन्दुस्तान टीम,हजारीबागTue, 28 May 2024 02:30 AM
ऐप पर पढ़ें

हजारीबाग वरीय संवाददाता।
हिन्दू पंचांग के अनुसार इस वर्ष आषाढ़ महीने का कृष्ण पक्ष महज 13 दिनों का होगा। इसमें द्वितीया और चतुर्थी तिथि का क्षय हो रहा है। कृष्ण पक्ष की शुरुआत 23 जून से होगी। इसका समापन (अमावस) 5 जुलाई को पड़ रहा है। इस कारण यह कृष्ण पक्ष केवल 13 दिनों का होगा। वहीं आषाढ़ शुक्ल पक्ष 6 जुलाई से 21 जुलाई (15 दिनों) का रहेगा।

पंडित अवधेश निर्मलेश पाठक बताते हैं कि हिंदी तिथि का निर्धारण चंद्रमा की गति से होता है। चंद्रमा सवा दो दिन में एक राशि से दूसरी राशि पर जाते हैं। सवा दो नक्षत्र की एक राशि होती है। चंद्रमा 354 दिन में एक बार पृथ्वी की परिक्रमा कर लेता है। इसे चंद्र वर्ष कहते हैं। पृथ्वी जो परिक्रमा करती है उसमें 365 दिन पांच घंटा और 53 सेकंड के आसपास लगते हैं। विदित हो कि चंद्रमा पृथ्वी का चक्कर लगाते हैं और पृथ्वी सूर्य का चक्कर लगाती है। पृथ्वी की गति पूरी तरह से संतुलित नहीं है। यही कारण है इससे तिथि का क्षय होता है।

पहले भी है कई उदाहरण

ज्योतिषाचार्य पंडित अशेष समर पाठक बताते हैं कि 13 दिनों का पक्ष नई बात नहीं है। इससे पहले 2021 में भाद्रपद शुक्ल पक्ष 13 दिन का हुआ था। इसके 11 साल पहले वर्ष 2010 में वैशाख शुक्ल पक्ष 13 दिनों का आया था। फिर 2005 में कार्तिक शुक्ल पक्ष 13 दिनों का हुआ था। 1959 में भाद्र शुक्ल पक्ष 13 दिनों का आया था।

क्षय तिथि में शुभ कार्य वर्जित रहेगा

पंडित अशेष समर पाठक कहते हैं क्षय तिथि को शुभ कार्य वर्जित रखना चाहिए। आषाढ़ की अंतिम तिथि को गृह प्रवेश आदि से बचना चाहिए। ऐसी तिथि को असंभावित दुर्घटनाओं का डर रहता है। समुद्र में लहर आदि ज्यादा आते हैं। मिर्गी रोगी को दिक्कत होती है। मानसिक रोगियों को भी दिक्कत होती है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।