ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड हज़ारीब़ागबड़कागांव में मिचौंग चक्रवात का असर ,किसानों को लाखों का नुकसान

बड़कागांव में मिचौंग चक्रवात का असर ,किसानों को लाखों का नुकसान

मिचौंग चक्रवात का असर, किसानों को लाखों का नुकसान, 150 एकड़ में काट कर रखे गए धान का...

बड़कागांव में मिचौंग चक्रवात का असर ,किसानों को लाखों का नुकसान
हिन्दुस्तान टीम,हजारीबागFri, 08 Dec 2023 12:30 AM
ऐप पर पढ़ें

बड़कागांव। प्रतिनिधि
प्रखंड में मिचौंग चक्रवात से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। कृषि प्रधान प्रखंड बड़कागांव के खेतों एवं खलिहानों में काट कर रखे गए धान 50 प्रतिशत नुकसान हो गया। इसके अलावा चिमनी भट्टा एवं बंगला भट्ठा के लिए बनाए गए ईंटे 80 प्रतिशत नुकसान हो गया। वही बड़कागांव प्रखंड में लगाए गए आलू गेहूं, सरसों, चना, मसूर, मटर ,अरहर, राय जैसे फसल को इस पानी से लाभ मिलेगा, आलू और हरी सब्जी के फसल जो खत में लगे हैं फसलों को लाभ हुआ। बेमौसम बारिश होने के कारण तापमान में गिरावट आई है। गुरुवार को हुई बारिश से धान की कटी फसल जो खेतों में पड़े हैं उसे भारी नुकसान हुआ है।

धान की खड़ी फसल को बारिश ज्यादा नुकसान नहीं किया है। गुरुवार को बड़कागांव का न्यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस था। इस क्षेत्र में ठंड बढ़ गई। बड़कागांव के खैरातरी निवासी रामेश्वर महतो ने बताया कि 20 कट्ठा में लगाया गया धान को काटकर खेत और खलिहान में रखा था। गुरुचट्टी के किसान चमन महतो, कांडतरी निवासी योगेंद्र महतो, रामअवतार महतो, बड़कागांव आंबेडकर मोहल्ला के कृषक माहेश्वरी राम ने बताया कि बारिश कम हुई थी इसके बावजूद भी कर्ज और ऋण लेकर पटवन कर हम लोगों ने धान को लगाया था। लेकिन जब धान झाड़ कर घर ले जाने की बारी आई तो बारिश ने उसे भी नुकसान कर दिया। किसानों के अनुसार बड़कागांव 10 एकड़, सांढ पंचायत में 20, बादम में 10, गोंदलपूरा में 20, आंगो में 11, तलसवार में 21, नापो खुर्द एवे नापो कलां में 15, महंगाई 10, सीकरी में 12, नया टांड़ में 12 और गोसाई बलिया में 15 एकड़ सहित अन्य गांवों में लगाए गए धान को काटकर खेत और खलिहान में रखा गया था,जो नुकसान हो गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें