DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाई कोर्ट ने अनुबंध सहायक प्राध्यापक की नियुक्ति को किया वैध घोषित

झारखंड हाईकोर्ट ने अनुबंध सहायक प्राध्यापक की नियुक्ति को वैध घोषित कर दिया है। न्यायालय ने आठ मई को इस मामले में सुनवाई करते अनुबंध सहायक प्राध्यापक की सेवा पर लगी रोक को हटा दिया है। यह जानकारी विभावि के सहायक प्राध्यापक डॉ रविंद्र कुमार मिश्रा ने दी। उन्होंने इस बाबत पूरी जानकारी देते कहा कि राज्य के सभी विश्वविद्यालयों में गजट के आधार पर अनुबंध पर सहायक प्राध्यापक की नियुक्ति की गई थी, जिसके विज्ञापन की चुनौती अतिथि शिक्षकों ने न्यायालय में दी थी। उन्होंने अनुबंध सहायक प्राध्यापकों की सेवा पर सवाल उठाया था। जिसपर हाई कोर्ट स्टे लगा दिया था। इसके बाद विभावि ने नवनियुक्त अनुबंध सहायक प्राध्यापकों ने डब्लूपीएस 1500/18 के माध्यम से रिट दायर करते अपने पक्ष को मजबूती से रखा था। इसपर उच्च न्यायालय ने अपना निर्णय सुनाते विभावि प्रशासन को तत्काल प्रभाव से अविलंब कार्रवाई करते अतिथि शिक्षकों की सेवा मुक्त करने का निर्देश दिया है। झारखंड अनुबंध सहायक प्राध्यापक संघ ने इस पर प्रसन्नता जताते न्यायालय के प्रति आभार जताया है। डॉ रविंद्र कुमार मिश्रा ने कहा कि आगे समान काम के लिए समान वेतन तथा स्थायीकरण के मुद्दे पर न्याय की गुहार लगाई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:High Court declares contract assistant professor to be legal