ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड हज़ारीब़ागराजभाषा कार्यशाला में हिंदी में कार्य करने पर दिया गया जोर

राजभाषा कार्यशाला में हिंदी में कार्य करने पर दिया गया जोर

दामोदर घाटी निगम के हजारीबाग परियोजना कार्यालय में बुधवार को हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला के मुख्य अतिथि के रूप में भारत सरकार के...

राजभाषा कार्यशाला में हिंदी में कार्य करने पर दिया गया जोर
default image
हिन्दुस्तान टीम,हजारीबागWed, 19 Jun 2024 05:30 PM
ऐप पर पढ़ें

हजारीबाग, वरीय संवाददाता । दामोदर घाटी निगम के हजारीबाग परियोजना कार्यालय में बुधवार को हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस दौरान हिंदी में कार्य करने पर जोर दिया गया। कार्यशाला के मुख्य अतिथि के रूप में भारत सरकार के पूर्वी क्षेत्र राजभाषा विभाग के कार्यान्वयन उप निदेशक निर्मल कुमार दुबे और विशिष्ट अतिथि परियोजना प्रमुख व अध्यक्ष संजय कुमार, राभाका समिति के अमित कुमार शील, टीसीएस के उप मुख्य अभियंता डॉ अशोक कुमार आदि उपस्थित थे। कार्यशाला का शुभारंभ मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस दौरान मुख्य अतिथि निर्मल कुमार दुबे ने राजभाषा नोडल अधिकारियों की सराहना करते हुए कहा कि राजभाषा नोडल अधिकारी राजभाषा कार्यान्वयन के प्रति सबसे अधिक जिम्मेदार होते हैं। वे राजभाषा विभाग और अपने कार्यालय के बीच सेतु का काम करते हैं। उन्होंने कहा कि राजभाषा कार्यान्वयन को केंद्रीय कार्यालयों की ओर से गंभीरतापूर्वक लेने की जरूरत है। पहले यह देखा जाता रहा है कि हिंदी में मूल पत्राचार को अग्रेषण पत्र, पत्रों के जवाब के लिए पावती भेज दिये जाने की परंपरा रही है । इस प्रकार के शॉर्टकट माध्यम को अविलंब रोका जाए और मूल पत्राचार को हिंदी में लिखा जाना सुनिश्चित किया जाए। ई-मेल, ई-ऑफिस, टिप्पणियों आदि में हिंदी का मौलिक उपयोग में बढ़ोतरी की जाए। कार्यशाला के दौरान दीपक कुमार, राहुल रंजन, नीलू कुमारी, अरुण सिन्हा, धीरज कुमार, सुनील कुमार, मदन कुमार, शंकर सिंह, अनिल मिश्रा, दीपक राणा आदि मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ जितेंद्र झा ने किया । यह कार्यशाला विभिन्न कार्यालयों के कार्यालय प्रमुख एवं राजभाषा नोडल अधिकारियों के लिए आयोजित की गई थी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।